लॉक डाउन में आपके घर जरूरत का सामान पहुंचाएंगे डिलीवरी बॉय

Mar 28 2020 05:15 PM
लॉक डाउन में आपके घर जरूरत का सामान पहुंचाएंगे डिलीवरी बॉय

प्रदेशभर में चल रहे कोरोना लॉकडाउन के बीच देहरादून के डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने घर-घर सामान पहुंचाने के लिए नई व्यवस्था की है। इसके साथ ही उन्होंने क्षेत्रवार ऐसे डिलीवरी ब्वायज के नाम और उनके फोन नंबर जारी किए हैं। वहीं कोई भी जरूरतमंद व्यक्ति इन नंबरों पर फोन करके अपने घर का सामान मंगा सकता है। इसके बदले में उन्हें डिलीवरी ब्वायज को मामूली खर्च देना हो सकता है । इसके साथ ही डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि लॉकडाउन के चलते लोगों के कम से कम घर से बाहर निकलने की प्रक्रिया के तहत यह उपाय किया गया है। वहीं  पुलिस की मदद से जिलेभर की ऐसी दुकानें और उनके डिलीवरी ब्वायज को चिन्हित किया गया है। वहीं सभी क्षेत्रों में अलग-अलग पुलिस की ड्यूटी भी लगा दी गई है ताकि लोगों को आसानी से सामान मिलता रहता है ।

इसके साथ ही  किसी तरह की भी कोई परेशानी न हो। उन्होंने सभी लोगों से अपील की है कि वह लॉकडाउन के बीच बेवजह अपने घर से बाहर न निकलें। इसके बजाए अपने घर में ही रहकर डिलीवरी ब्वायज को फोन करके सामान मंगाएं। वहीं हरिद्वार में  यदि आप जरूरी सामान लाने में असमर्थ हैं तो अपने घर के बाहर लाल कपड़ा टांग दें, आपके पास कुछ मिनटों में पुलिस पहुंच जाएगी। इसके साथ ही ठीक इसी तरह यदि आप किसी की मदद करना चाहते है तो सफेद कपड़ा टांग दें तब आपकी मदद आमजन तक पहुंचाने की व्यवस्था में भी पुलिस जुट जाएगी। वहीं हरिद्वार पुलिस ने इस तरह की पहल की है। हरिद्वार पुलिस कभी मुनाफाखोरों को सबक सीखा रही है तो कभी भिखारियों, लावारिस पशुओं को खाना खिला रही है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की अब हरिद्वार पुलिस ने एक नई पहल शुरू की है। वहीं हरकी पैड़ी चौकी पुलिस ने एक नई व्यवस्था बनाई है। चौकी प्रभारी अरविंद रतूड़ी का कहना है कि कई लोग घर से सामान लेने नहीं निकल सकते हैं, वे बुजुर्ग भी हो सकते हैं। वहीं यात्री भी फंसे हैं। वहीं ऐसे में वे अपने अपने घर, धर्मशाला या होटल की छत पर लाल कपड़ा टांग दें तो पुलिस उनकी मदद के लिए पहुंच जाएगी। इसके साथ ही इस तरह गरीबों या लावारिस पशुओं के लिए यदि कोई आमजन किसी भी तरह की मदद करना चाहता है तो वह सफेद कपड़ा टांग दे। पुलिस खुद ब खुद उस तक पहुंच जाएगी। ऐसा बताया कि दो पुलिसकर्मी पूरे क्षेत्र में इसी पर निगाह रखने के लिए तैनात किए गए हैं।

42 मरीजों ने कोरोना से जीती जंग, अब इस स्थान पर बिताएंगे जिंदगी

दुनियाभर में कोरोना से 21 हज़ार लोगों की मौत, यहाँ देखें हर देश का हाल

लॉकडाउन के दौरान डॉक्टरों और पत्रकारों से हुए दुर्व्यवहार पर गरजे प्रकाश जावड़ेकर