कोरोना संकट के बीच सीरिया में लॉक डाउन में मिली ढील, दी गई इस बात की अनुमति

इस्लामबाद: बीते कई दिनों से लगातार बढ़ता जा रहा कोरोना का कहर मासूम लोगों की जान का दुश्मन बन चुका है, हर दिन इस वायरस के कारण दुनियाभर में हजारों मौते हो रही है. वहीं लगातार संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रह है, इतना ही नहीं अब तो कोरोना वायरस ने एक महामारी का रूप भी ले लिया है जिसके बाद से लोगों के घरों में खाने की किल्लत बढ़ती ही जा रही है न जाने इस वायरस के कारण और ऐसी कितनी मासूम जिंदगियां है जो तबाही के कगार पर आ चुकी है. वहीं अब तक दुनियाभर में मौत का आंकड़ा 2 लाख 76 हजार के पार हो चुका है और अभी भी इस वायरस का कोई तोड़ नहीं मिल पाया है.

वहीं इस बात की जानकारी मिली है कि पाकिस्‍तान के बाद मध्‍य एशियाई मुल्‍क सीरिया ने भी रमजान के इस्‍लामी पवित्र महीने के दौरान मस्जिदों को खोल दिया है. अब इन मस्जिदों में सामूहिक नमाज की अनुमति होगी. हालांकि, सरकार ने साफ किया है मस्जिदों को केवल शुक्रवार को ही खोला जाएगा. मार्च में शुरू हुए राष्‍ट्रव्‍यापी लॉकडाउन के बाद पहली बार सरकार ने मस्जिदों को खोलने का ऐलान किया है. 

जंहा इस बारें में सीरिया ने कहा है कि यह कदम लॉकडाउन को चरणबद्ध रूप से खोले जाने की योजना के तहत है. उधर, पाकिस्‍तान और ईरान सरकार ने भी रमजान के इस्लामी पवित्र महीने के दौरान मस्जिदों में सामूहिक प्रार्थना की अनुमति दी है. हालांकि, अधिकारियों ने 15 जुलाई तक पूरे देश में शैक्षणिक संस्थानों को बंद रखने की योजना बनाई है.

जब 25 साल की मिशेल पर आया था ओबामा का दिल, डिनर पर ही कर डाली थी सगाई

लिबरल पार्टी के नेता चुने जाने पर स्कॉट मॉरिसन की पत्नी ने साझा की अपनी मन की बात

इटली का दावा- बना ली कोरोना की वैक्सीन, सफल रहा टेस्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -