उज्जैन में कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों को भेजा गया अस्थाई जेल

उज्जैन: मध्य प्रदेश के उज्जैन में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या का आंकड़ा 15 तक पहुंच गया. शहर में लगातार कोरोना संक्रमितों के मामले सामने आ रहे है. ऐसे में जिला प्रशासन ने लॉकडाउन को टोटल लोकडाउन में बदलने के आदेश जारी कर दिए है, लेकिन लोगों को घर में नहीं रोका जा सका. गुरुवार को सड़कों पर बेवजह निकलने वालों को जेल भेजने की व्यवस्था कर दी गई. इसी कड़ी में माधव कॉलेज में बनाई गई ओपन जेल में करीब 30 लोगों को भेजा गया. यह इसलिए किया जा रहा है ताकि वे दोबारा सड़क पर बिल्कुल भी नजर ना आए. इस दौरान सख्ती दिखाते हुए 10 लोगों की बाइक जब्त कर ली गई. पुलिस का कहना है कि वे किसी को डंडा नहीं मारना चाहते, लेकिन लोग ऐसे घूम रहे हैं जैसे सबकुछ सामान्य हो.

वहीं इस बारें में एसएसपी सचिन अतुलकर ने बताया सुबह लोग सामान खरीदने के लिए ज्यादा बाहर निकल रहे हैं. इस समय संकट का दौर है, पुलिस किसी को डंडा नहीं मारना चाहती है, लेकिन लोग मुख्य मार्गों समेत गलियों व कॉलोनियों में ऐसे घूम रहे हैं, जैसे सब कुछ सामान्य है. इसलिए सुबह की पुलिस पार्टी अलग से बनाई जा रही है. इसके अलावा कंटोनमेंट एरिया सहित जरूरी स्थानों पर कैमरे लगाए जाएंगे, ड्रोन कैमरों से भी निगरानी होगी. सड़क पर बेवजह घूमने वालों की अब गिरफ्तारी भी हो रही है.  

बता दें की लाॅकडाउन में इंदौर, रतलाम और पीथमपुर से 60 लोग बड़नगर जनपद की झालरिया में आ पहुंचे. पंचायत से जुड़े किसी भी जिम्मेदार ने सूचना वरिष्ठ कार्यालय को नहीं दी. जिला पंचायत के सीईओ क्षितिज सिंघल ने बड़नगर जनपद पंचायत के सीईओ गुमान सिंह मुजाल्दे को और पंचायत सचिव रईस खान को नोटिस जारी किया है. इधर ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक दिनेश ने बताया जो लोग गांव में आएं हैं. वे यहीं के निवासी हैं.

कोरोना: यूपी में 15 जिले सील, हॉटस्पॉट पर ड्रोन से हो रही निगरानी

काेराेना पॉजिटिव डॉक्टर को विदेश से वीडियो कॉल कर बेटे ने दी अंतिम विदाई

खड़ी फसल को देखकर परेशान हो रहे किसान, इस वजह से नहीं कर पा रहे कटाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -