लोन की गारंटी देने से पहले इस बात का रखे ख्याल

इस भागती दौड़ती दुनिया में कभी-कभी सिर्फ दोस्तों और रिश्तेदारों की मदद करने के लिए हम कानूनी पहलुओं को जाने बिना उनके बैंक लोन के लिए गारंटर बन जाते हैं. अगर आप किसी दूसरे के लिए लोन के गारंटर बनते हैं तो इसके कई वित्तीय मतलब हैं. ऐसी स्थिति में जब लोन लेने वाला रीपेमेंट नहीं करता है तो गारंटर के लिए गंभीर परिणाम हो सकते हैं.

RIL को एक साल में हुआ 40 हज़ार करोड़ का प्रॉफिट, फिर भी वेतन कटौती से बचाएगी 600 करोड़

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि लोन लेने वाला लोन की राशि का भुगतान नहीं कर पाया तो चुकौती की जिम्मेदारी गारंटर पर पड़ती है. इसलिए गारंटर होने से पहले, आपको यह सोचना होगा कि लोन चुकाने के लिए आपके पास इतना पैसा होगा.

ट्रेन और फ्लाइट में यात्रा के लिए अनिवार्य हो सकता है Aarogya Setu ऐप

जिस राशि के लिए आप गारंटी देंगे वह आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में बकाया देयता के रूप में दिखाई देगी. इससे आपकी लोन पात्रता पर प्रभाव पड़ेगा यदि आप, भविष्य में घर, कार या पर्सनल लोन लेने का निर्णय लेते हैं. साथ ही आपके मित्र/रिश्तेदार के लोन पर आपके दायित्वों को पूरा करने में आपके द्वारा किसी भी देरी या डिफ़ॉल्ट का आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.

लगभग पांच सौ करोड़ का प्रदेश का व्यापार प्रभावित

ग्रीन और ऑरेंज जोन में मिली आने-जाने की छूट, पेट्रोल-डीजल के दाम जानना हुआ जरुरी

Lockdown :ट्रेन से जा रहे मजदूरों को नहीं खरीदना होगा टिकट, राज्य सरकार से पैसे वसूलेगा रेलवे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -