समलैंगिक ग्रुप के चक्कर में मारा गया यश, शाहवेज ने टुकड़े-टुकड़े कर नाले में फेंकी लाश

मेरठ: मेरठ में एलएलबी के छात्र यश रस्तोगी को लिसाड़ीगेट में दूसरे समुदाय के युवकों ने बेरहमी से मारा। जी हाँ, इस मामले में मिली जानकारी के तहत पहले यश का गला दबाया और फिर उसके कई टुकड़े कर लाश बोरे में भरकर पुलिस चौकी के पास नाले में फेंक दी। करीब छह दिन तक उसकी लाश नाले में पड़ी रही। इस मामले में पुलिस ने सर्विलांस के जरिये यश के दोस्तों की कुंडली खंगाली, जिसके बाद आरोपियों का पता चला। इस मामले में पुलिस का दावा है कि यश और उसके दोस्तों ने ऑनलाइन समलैंगिक ग्रुप बनाया हुआ था, जिसमें करीब 40 युवक जुड़े थे। अब आज रविवार को मृतक यश के परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस पहुंचकर हंगामा कर दिया।

जी दरअसल परिजनों ने मुआवजे की मांग करते हुए पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। वहीं दूसरी तरफ पुलिस के समझाने के बाद परिजनों ने शव का सूरजकुंड स्थित श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया। इस मामले में बीते शनिवार देर रात यश की लाश मिलने की जानकारी लगने पर एसपी सिटी, एसपी क्राइम भी लिसाड़ीगेट पहुंचे। वहीं हत्यारोपियों से पुलिस ने रात में पूछताछ की और पुलिस के मुताबिक हत्यारोपियों का कहना है कि वारदात के पीछे समलैंगिक संबंधों का मामला है। जी दरअसल यश और आरोपी ऑनलाइन चल रहे समलैंगिक ग्रुप के जरिए ही एक-दूसरे से जुड़े थे और यश ने एक आरोपी शाहवेज से 40 हजार रुपये भी ले लिए थे और पांच हजार की डिमांड और कर रहा था।

शाहवेज ने यश को अपने घर लिसाड़ीगेट में बुला लिया और अपने दोस्तों के साथ मिलकर पहले यश का गला दबाया और फिर चाकू से उसके टुकड़े कर दिए। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि 26 जून को ही यश की उन्होंने हत्या कर दी थी. वहीं इस मामले के बारे में एसपी सिटी विनीत भटनागर का कहना है कि, 'समलैंगिक ग्रुप से जुड़े युवकों को यश ब्लैकमेल करने लगा था। आरोपी शाहवेज की लोहे का सामान बनाने की फैक्टरी है। यश ब्लैकमेल कर रहा था। जिसके चलते उन्होंने प्लानिंग करके यश की हत्या कर दी।'

नूपुर शर्मा की तस्वीर शेयर कर इस्लामिक आतंकवादी संगठन तालिबान ने की ये डिमांड

'शादी से पहले शारीरिक संबंध बनाना...', दीया मिर्जा ने दिया बेबाक बयान

रवीना टंडन का बड़ा खुलासा, कहा- 'लोकल बस में मेरे साथ....'

Most Popular

- Sponsored Advert -