कोरोना पर लाइव अपडेट, जानिए क्या होता है वैरिएंट ऑफ कंसर्न?

दक्षिण अफ्रीका से कर्नाटक आए 2 लोगों के कोविड से संक्रमित पाये जाने की खबरों में मध्य तमिलनाडु गवर्नमेंट ने 6 देशों से आने वाले लोगों के लिए 8 दिन का क्वारंटाइन का एलान कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री एम. सुब्रमण्यम ने रविवार को यहां संवाददाताओं को बताया कि  स्टेट गवर्नमेंट ने कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मद्देनजर निर्णय कर लिया कि दक्षिण अफ्रीका, चीन बोत्सवाना, हांगकांग, ब्राजील तथा इटली से आने वाले लोगों को 8 दिन तक क्वारंटाइन में रहना होगा। उन्होंने बोला है कि इस संबंध में चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पाबंदी लगाई जा चुकी है और इन देशों से आने वाले लोगों की यहां पर टेस्ट किए जाने वाले है। उन्होंने बोला है कि यदि किसी में कोरोना के लक्षण  देखने को मिल रहे है तो उन्हें आइसोलेट किया जाएगा।

क्या होता है वैरिएंट ऑफ कंसर्न? : विश्वभर में हड़कंप मचने के उपरांत WHO ने ओमिक्रॉन को ‘वैरिएंट ऑफ कंसर्न का एलान किया। जब किसी भी वायरस का संक्रमण तेजी से फैलता है और रिसर्च में इसके खतरनाक होने की पुष्टि हो जाती है तो इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न की कैटेगरी में रख दी जाती है. वायरस के स्‍ट्रेन को इस कैटेगरी में रखने का मतलब है कि इससे अलर्ट रहने की आवश्यकता है। किसी वायरस के वैरिएंट ऑफ कंसर्न घोषित होने का मतलब है कि नए स्‍ट्रेन की जीन संरचना में कोई परिवर्तन नहीं देखने को मिला है। जिसकी वजह वायरस के संक्रमण फैलाने की दर बढ़ गई है और इस पर वैक्‍सीन पर असर कम होने की पुष्टि हुई है। जब वायरस का कोई नया रूप  देखने को मिला है तो उस पर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन रिसर्च करता है। रिसर्च और निगरानी के बीच इसे वैरिएंट ऑफ इंट्रेस्‍ट की कैटेगरी में रखा जाने वाला है। वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट की कैटेगरी में इटा, आयोटा, कप्पा, जीटा, एप्सिलोन और थीटा को भी रखा गया था, लेकिन इन वैरिएंट्स का प्रभाव कम होने  के उपरांत इन्हें इस  सूची से हटा दिया गया।

वैक्सीन को चकमा दे सकता है : दक्षिण अफ्रीका में मिले कोविड के नए और खतरनाक स्‍ट्रेन को WHO ने ‘वैरिएंट ऑफ कंसर्न’ बताया है। जिसके संक्रमण को रोकने के लिए कई देशों ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाली उड़ानों को स्‍थगित  की जा चुकी है । हिन्दुस्तान में भी केंद्र सरकार ने राज्‍यों को अलर्ट करते हुए निर्देश भी दिए जा चुके है। ओमिक्रॉन (Omicron) किस हद तक खतरनाक है। इस पर एम्‍स के डायरेक्‍टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि कोरोना के इस वैरिएंट के स्‍पाइक प्रोटीन में 30 से अधिक बार म्‍यूटेशन हो चुका है। यह वैक्‍सीन को भी चकमा दे सकता है।

'ओमीक्रोन' को लेकर भारत में अलर्ट जारी, गृह मंत्रालय ने दिए सख्त निर्देश

पति के साथ 'प्रकाश पर्व' मनाने लाहौर गई मह‍िला, पाक‍िस्तानी व्यक्ति से रचा ल‍िया न‍िकाह

दिल्ली के मॉल में अचानक हुआ 'आतंकी हमला', लोगों में मची अफरातफरी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -