लंदन: सबसे कम उम्र की महिला IS आतंकी को उम्रकैद

Aug 05 2018 12:18 PM
लंदन: सबसे कम उम्र की महिला IS आतंकी को उम्रकैद

लंदन: ब्रिटैन की अदालत ने सबसे कम उम्र की महिला आतंकी को उम्रकैद की सजा सुनाई है, पैरोल के लिए अर्ज़ी लगाने से पहले महिला आतंकी को 13 वर्ष कारावास में गुजारने होंगे.  हाईस्कूल परीक्षा की तैयारियों के दौरान सफा बाउलर, आइएस आतंकी नवीद हुसैन के संपर्क में आई, उस पर ब्रिटिश म्यूजियम पर आंतकी संगठन द्वारा हमले की कोडेड बातचीत को छिपाने का आरोप है.

नवाज़ की सजा हो सकती है रद्द, अदालत ने मंजूर की याचिका
 
सफा सीरिया जाकर आतंकी संगठन आइएस में शामिल होना चाहती थी, जब उसे ब्रिटैन सरकार द्वारा रोका गया तो 18 साल की सफा बाउलर ने विरोध के चलते ब्रिटैन के मोरक्को सहित कुछ महत्वपूर्ण स्थानों पर हमले की साजिश रची. जिसके बाद सफा को गिरफ्तार कर लिया गया. शुक्रवार को जब सफा को अदालत में पेश किया गया, तो उसने न्यायाधीश के सामने इस्लाम और उसके चरमपंथी विचारों को छोड़ने का दावा किया.

11 अगस्त नहीं इस दिन होगा इमरान खान का शपथ ग्रहण समारोह

लेकिन जज को सफा की इस बात पर विश्वास नहीं हुआ, उन्होंने कहा कि सफा की विचारधारा इस्लाम और चरमपंथ से बहुत गहराई से जुडी हुई है. जज ने कहा कि मेरे विचार में सफा की विचारधारा में कोई बदलाव नहीं आया है, वह अभी भी भीतरी रूप से कट्टरपंथी विचारों से जुडी हुई है, ऐसे में सफा को खुला छोड़ना, देश के लिए हानिकारक हो सकता है. 

खबरें और भी:-​

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो पर जानलेवा हमला

अमेरिका से छल कर रहा किम जोंग- यूएन की रिपोर्ट

पाकिस्तान के आए अच्छे दिन, 15 करोड़ डॉलर की मदद करेगा अमेरिका

?