अचानक धार्मिक कार्यक्रम में मची भगदड़, कुचले जाने से 29 लोगों की गई जान

पश्चिम अफ्रीकी देश लाइबेरिया की राजधानी मोनरोविया के उपनगरीय क्षेत्र में एक धार्मिक समारोह में मची भगदड़ में कम से कम 29 व्यक्ति की जान चली गई हैं। पुलिस ने इसकी खबर दी है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, ये दुर्घटना स्थानीय समय के अनुसार, बुधवार की रात या बृहस्पतिवार प्रातः के वक़्त हुआ। पुलिस प्रवक्ता मूसेस कार्टर ने बताया कि मरने वालों का आँकड़ा बढ़ सकता है, क्योंकि ये अभी आरभिंक आंकड़ें हैं। बताया गया है कि कुछ दोषियों एवं उपद्रवियों द्वारा हमला बोला गया था, जिसके पश्चात् ये भगदड़ मची।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भगदड़ मचने का ये मामला न्यू क्रु टाउन में डी। ट्वेह फील्ड में एक धार्मिक सभा के चलते हुई, जिसमें 29 व्यक्तियों की मौत हुई। इस धार्मिक समारोह का आयोजन अब्राहम क्रोमाह के नेतृत्व में मोर ग्रेस इंटरनेशनल मिनिस्ट्रीज द्वारा किया गया था। कथित रूप से भगदड़ तब हुई जब क्षेत्र के कुछ अपराधियों तथा गुंडों ने भीड़-भाड़ वाले समारोह में उपासकों पर कुल्हाड़ी तथा अन्य घातक हथियारों से हमला किया। तत्पश्चात, लोगों ने घटनास्थल से भागना आरम्भ कर दिया, जिसके चलते भगदड़ मच गई। मरने वालों में 17 महिलाएं, 11 बच्चे तथा तीन पुरुष सम्मिलित हैं।

फिलहाल मामले को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं प्राप्त हो पाई है, मगर स्थानीय मीडिया ने कहा है कि ये धार्मिक समारोह ईसाई समुदाय की प्रार्थना से जुड़ा हुआ था। लाइबेरिया में इसे ‘धर्मयुद्ध’ के रूप में जाना जाता है। इसमें व्यक्तियों की भारी भीड़ जुटती है। यही कारण है कि समारोह का आयोजन एक फुटबॉल फील्ड में किया गया था। घटनास्थल पर उपस्थित रहे एक इमैनुएल ग्र नामक एक चश्मदीद ने बताया कि उसने व्यक्तियों की चीख पुकारों को सुना और जब लोगों की भीड़ निकल गई, तो चारों तरफ लाशें बिखरी हुई थीं। तत्पश्चात, मौके पर से लोगों की लाशों को हटाया गया। क्षेत्र में वर्तमान में तनाव पसरा हुआ है।

राष्ट्रपति बिडेन ने घोषणा की,कमला हैरिस 2024 के चुनाव में उनकी साथी होंगी

उत्तर कोरिया ने दिवंगत नेताओं की जयंती मनाने के लिए दोषियों के लिए माफी की घोषणा की

विश्व बैंक ने पश्चिम बंगाल में सामाजिक सुरक्षा सेवाओं की सहायता के लिए 125 मिलियन अमरीकी डालर का ऋण दिया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -