'बीजिंग के कसाई' कहे जाते थे चीन के पूर्व प्रधानमंत्री ली पेंग, हुआ निधन

Jul 24 2019 01:35 PM
'बीजिंग के कसाई' कहे जाते थे चीन के पूर्व प्रधानमंत्री ली पेंग, हुआ निधन

बीजिंगः थ्यानमेन चौक पर दमनकारी कार्रवाई में अपनी भूमिका को लेकर 'बुचर ऑफ बीजिंग (यानी बीजिंग का हत्यारा) नाम से र्चिचत चीन के पूर्व प्रधानमंत्री ली पेंग का निधन हो गया. जी हाँ, सरकारी संवाद समिति शिन्हुआ ने यह खबर दी है कि नेशनल पीपुल्स कांग्रेस स्टैडिंग कमेटी के पूर्व अध्यक्ष ली का सोमवार को अज्ञात बीमारी से निधन हो गया और वह 90 वर्ष के थे. आप सभी को बता दें कि उन्हें पहले ब्लैडर कैंसर हुआ था. वहीं बीते 4 जून, 1989 को राजधानी में लोकतंत्र समर्थक व्यापक प्रदर्शन पर नृशंस कार्रवाई को लेकर ली दुनियाभर में कुख्यात हो गये थे और वह एक दशक से अधिक समय तक कम्युनिस्ट शासन के शीर्ष पर रहे.

वहीं उन्हें जीवन के आखिरी क्षण तक लोग दमन के प्रतीक के रूप में नफरत की नजर से देखते रहे और जब विद्याथियों, कर्मचारियों और अन्य लोगों की अपार भीड़ बदलाव की मांग करते हुए हफ्तों तक थ्यानमेन चौक पर डेरा डाले रही तब ली ने 20 मई, 1989 को मार्शल लॉ की घोषणा कर दी. सन् 1928 में एक कम्युनिस्ट क्रांतिकारी के परिवार में जन्मे ली तब अनाथ हो गये थे जब पिछली कुओमितांग सरकार ने उनके पिता को फांसी की सजा दे दी थी. वहीं उनका पालन-पोषण चीन के पूर्व प्रधानमंत्री झोउ एनलाई और उनकी पत्नी डेंग यिंगचाओ ने किया था. वह आगे चलकर चीन के सबसे महत्वपूर्ण और विवादास्पद नेताओं में से एक बने. उस समय ली ने इन अफवाहों का खंडन किया था कि वह दिवंगत प्रधानमंत्री झोउ के दत्तक पुत्र हैं लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि ''वह उनके और डेंग के करीब हैं.'' इसी के साथ साल 2014 में प्रकाशित अपने संस्मरण में ली ने लिखा कि ''झोउ और डेंग के साथ उनका संबंध पुराने कॉमरेड और शहीद के वंशज के जैसा था.''

तत्कालीन सोवियत संघ में इंजीनियर के रूप में प्रशिक्षण पाने वाले ली ने चीन लौटने से पहले किसी राष्ट्रीय बिजली कंपनी में काम किया और माओत्से तुंग के काल में राजनीतिक उथल-पुथल और भयावह सांस्कृतिक क्रांति के दौरान वह भागने में सफल रहे. माओ की मृत्यु के उपरांत ली खासकर सुधारवादी नेता डेंग द्वारा माओ की पत्नी जियांग किंग की अगुवाई वाली 'गैंग ऑफ फोर' को किनारे लगाकर सत्ता अपने हाथ में लेने के बाद प्रभावशाली बने. उसके बाद वह 1987 से 1998 तक देश के चौथे प्रधानमंत्री रहे और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी में कई अहम पदों पर रहे.

National Junk Food Day: आज ही जंक फ़ूड से ले लो सन्यास वरना शरीर का हो जाएगा सर्वनाश

आईएमए घोटाले के मुख्य आरोपी मंसूर खान ईडी के ट्रांजिड रिमांड पर

बेटी का शव देखकर फूट-फूटकर रोये शिवराज सिंह, इस वजह से हुई मौत