संत पर फूटा 'चिट्‌ठी बम'! महिला ने पुलिस को भेजे सबूत, कहा- 'कालीचरण कोई संत नहीं बल्कि भोगी-विलासी'

रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर की जेल में बंद महाराष्ट्र के संत कालीचरण पर ढोंगी होने का इल्जाम लगा है। कालीचरण को लेकर महाराष्ट्र की एक महिला ने पीएम, केंद्रीय गृह मंत्री, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ के पुलिस कमीश्नर व आईजी को पत्र भेजा है। महिला ने कालीचरण महाराज को कोई संत नहीं बल्कि गैरिक कपड़े पहने हुए एक ढोंगी बताया है। पत्र में लिखा है कि कालीचरण अपने आपको काली माता का सेवक बोलता है, मगर सच में वह एक भोगी विलासी शख्स है। कालीचरण का एकमात्र धर्म दुखी व्यक्तियों की सहायता करने के नाम पर उनसे धन वसूलना तथा उनका दोहन करना है। पत्र में महिला ने स्वयं भी कालीचरण महाराज को 25 हजार रुपए देने की बात बताई है। 

चिट्ठी में महिला ने लिखा है कि वैवाहिक जिंदगी में काफी परेशानी थी तथा उसके समाधान के लिए वह भटक रही थी। जून 2021 में पता चला कि अकोला में कालीचरण महाराज बहुत लोकप्रिय है तथा वे परेशानी दूर करने में सहायता करते हैं। कालीचरण महाराज के शिष्य ईश्वरानंद के जरिए उनके कांटेक्ट में आई। कालीचरण से फ़ोन पर कांटेक्ट हुआ तथा उसने सभी दिक्कतों के निराकरण का उपाय बताएंगे। ईश्वरानंद महाराज के बोलने पर उन्होंने कालीचरण महाराज को 5 हजार रुपये बताए नंबर पर पेटीएम किया। तत्पश्चात, कालीचरण ने ऑडियो मैसेज भेजकर जिंदगी की समस्याओं को दूर करने उपाय बताया। महिला से उपाय बताने के नाम पर कालीचरण महाराज तथा उसके पीए ईश्वरानंद ने कुल 25 हजार की राशि पेटीएम किए। महिला ने लिखा कि इस बीच उनसे वाट्सएप पर चेटिंग भी हुई तथा दो बार भेंट भी हुई। कालीचरण महाराज के बारे में ज्यादा जानने का प्रयास किया तथा उनसे जुड़े बहुत से भक्तों से मुलाकात की, तब कालीचरण की सच्चाई सामने आई। महिला ने पत्र में लिखा है कि कालीचरण कोई संत नहीं है बल्कि वे एक अच्छे शास्त्रीय गायक हैं तथा शिवतांडव स्त्रोत का गायन काफी अच्छे से करते हैं। महिला ने कालीचरण के 4-5 घंटे व्यायाम करने से लेकर साधना करने के वक़्त पर भी प्रश्न उठाए हैं। महिला ने चिट्ठी में लिखा है कि दिल्ली की एक महिला से कालीचरण के संबंध की जानकारी मिली तो मुझे बहुत धक्का लगा। महिला ने चिट्ठी में लिखा है कि मैंने जब कालीचरण महाराज से मुलाकात की तथा सभी सुनी बातों के विषय में उन्हें बताया तो उन्होंने मुझे बोला कि बिना पैसे के इस दुनिया में जीना संभव नहीं है। 

साथ ही महिला ने चिट्ठी में लिखा है कि कालीचरण ने अपने वॉट्सएप चैट दिखाए, जिसमें महिला भक्त के साथ आपत्तिजनक बातें की गई थीं। इस बीच कालीचरण वॉशरूम चले गए तब महिला ने कालीचरण का मोबाइल चेक किया, जिसमें चैट के हिस्से में I Love You लिखा हुआ था। कई आपत्तिजनक बातें भी थीं। वॉशरूम से लौटने पर कालीचरण ने बोला कि लोग उनका आशीर्वाद लेने के लिए तरसते हैं। फ़ोन में कालीचरण ने एक फोटो भी महिला को दिखाई, जिसमें उनका पीए ईश्वरानंद एक कम आयु की युवती के साथ दिखाई दे रहा था। कालीचरण ने कहा कि बड़े-बड़े चिकित्सक, इंजीनियर, मैनेजर पद की महिलाएं उनका सानिध्य प्राप्त करने के लिए ईश्वरानंद से जुड़कर रहती हैं। आपके ऊपर तो कालीचरण महाराज स्वयं कृपा कर रहे हैं। रायपुर पुलिस अधीक्षक को भेजे पत्र में महिला ने ठग कालीचरण महाराज व उसके पीए ईश्वरानंद महाराज से 25 हजार रुपए वापस दिलाने की अपील की है। महिला ने पत्र में यह भी लिखा है कि कालीचरण की निजी जिंदगी पर कोई आपत्ति नहीं है, मगर उन्हें देशभक्त व संत बताया जा रहा है उस पर समस्या है। सत्य सामने लाने के लिए यह चिट्ठी लिख रहीं हूं। एक घर गृहस्थी वाली महिला हूं, इसलिए अपना पूरा पता नहीं दे सकती तथा न ही मीडिया के सामने आ सकती हूं। महिला ने चिट्ठी के साथ कुछ दस्तावेज भी पुलिस को भेजे है। उन्होंने चिट्ठी में यह भी लिखा है कि चिट्ठी में जिनका उल्लेख है उनकी तहकीकात भी कराई जा सकती है। कालीचरण महाराज के एकाउंट्स की तहकीकात कर सत्यता सामने आ सकती है। 

दर्दनाक! चाचा ने की अपनी ही भतीजियों की बेरहमी से हत्या, दोनों की निकालीं आंखें और फिर...

विकास दुबे को शरण देने वाला अर्पित तिवारी गिरफ्तार, घोषित था 25 हज़ार का इनाम

PUBG का ऐसा चढ़ा नशा कि लड़के ने कर दी पूरे परिवार की हत्या

Most Popular

- Sponsored Advert -