वकील की शादी का अनोखा कार्ड, लिखी हैं संविधान की धाराएं

लोग अपनी शादी को ख़ास और यादगार बनाने के लिए हर तरिके को अपनाते हैं। इस लिस्ट में उनका शादी का कार्ड भी शामिल होता है जिसे वह सबसे खास बनाने की कोशिश करते हैं। कई लोग ऐसे हैं जो अपनी शादी के कार्ड में क्रिएटिविटी दिखाते हुए अनोखा संदेश लिखवाते हैं। वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जो अलग और खास दिखाने के लिए कार्ड में बहुत ज्यादा सजावट करवाते हैं। अब इस समय सोशल मीडिया पर एक अनोखा शादी का कार्ड वायरल हो रहा है। यह कार्ड एक वकील की शादी का है और इस कार्ड में दूल्हे ने संविधान की धाराओं और विवाह अधिनियम का जिक्र किया है। वहीं इस कार्ड में दूल्हे ने एक गलती भी कर दी और इसी गलती के चलते वह सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहा है।

जी दरअसल, जिस दूल्हे की शादी का यह कार्ड है वह पेशे से वकील हैं और उसने कार्ड में अपने नाम के आगे 'एडवोकेट' नहीं लिखवाया है। इसी के चलते लोगों ने उसे अपने नाम के आगे 'एडवोकेट' लिखने की सलाह दे दी। यह शादी का कार्ड असम राज्य के गुवाहाटी के रहने वाले इस वकील का है जिसने संविधान थीम वाला शादी का कार्ड छपवाया है। जी दरअसल वकील ने इस कार्ड में समानता का प्रतिनिधित्व दर्शाते हुए न्याय के तराजू के दोनों तरफ दूल्हा और दुल्हन के नाम छपवाए हैं।

इसी के साथ कार्ड में भारतीय विवाहों को नियंत्रित करने वाले कानून तथा अधिकारों का भी जिक्र है। उसके अनोखे शादी के कार्ड में लिखा है, "भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत विवाह का अधिकार जीवन के अधिकार का एक घटक है। मेरे मौलिक अधिकार का उपयोग करने का समय रविवार 28 नवंबर को है।" वहीं इसके आगे लिखा है, "वकीलों की जब शादी होती है, तब वह 'हां' नहीं कहते, बल्कि वह कहते हैं, 'नियम और शर्तों को हम स्वीकारते हैं।" इस समय यह अनोखा शादी कार्ड सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है और जो इसे देख रहा है वह हैरान हो रहा है।

'अगले साल मार्च तक महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार बन जाएगी'

लड़की ने मारी खुद के Vagina में गोली, अब सामने आई चौंकाने वाली कहानी

कानपुर: पान खाते दर्शक का वीडियो वायरल, लगी मीम्स की झड़ी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -