भारत में फांसी की सजा हो समाप्त: विधि आयोग

Aug 31 2015 06:14 PM
भारत में फांसी की सजा हो समाप्त: विधि आयोग

नई दिल्ली: भारत में जब से मुंबई सीरियल बम ब्लास्ट के दोषी आतंकी याकूब मेमन को फांसी दी गई है तब से भारत में इस अतिसंवेदलशील मुद्दे पर चिंतनकारो की बहस शुरू हो गई थी की भारत में फांसी की सजा खत्म की जाए या बरकरार रखी जाए. खबर आ रही है की विधि आयोग ने भारत में फांसी की सजा को समाप्त करने की सिफारिश की है. विधि आयोग का कहना है की देश में फांसी की सजा सिर्फ आतंकवाद व राष्ट्रद्रोह जैसे गंभीर मामलों पर ही दी जाए.

विधि आयोग के अध्यक्ष जस्टिस ए पी शाह का कहना है की इस सिफारिश पर अायोग के 9 में से 6 सदस्य रिपोर्ट से सहमत हैं, व तीन इस पर असहमत है जिनमे सरकार के दो प्रतिनिधि शामिल है, इस रिपोर्ट में कहा गया है कि आंख के बदले आंख का सिद्धांत हमारे संविधान की बुनियादी भावना के खिलाफ है। बदले की भावना से न्यायिक तंत्र नहीं चल सकता है. व फांसी की सजा अक्सर ही आर्थिक व सामाजिक रूप से कमजोर लोगो को ही मिलती है. व हमे उम्मीद है की एक दिन हर तरह के अपराध के लिए फांसी की सज़ा बंद हो जायेगी.