लेजर हेयर तकनीक के इस्तेमाल से होते है नुकसान

लेजर हेयर तकनीक के इस्तेमाल से होते है नुकसान

अनचाहे बालों को दूर करने के लिए लेजर हेयर रिमूवल तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है. क्या आप जानते है इस तकनीक के उपयोग से कितना नुकसान होता है. आप अनचाहे बालों से तो छुटकारा पा लेते है मगर इसके साइड इफेक्ट को नजरअंदाज कर देते है. लेजर द्वारा शरीर के बालों को निकालना कोई नई तकनीक नहीं है.

लेजर तकनीक से सिर्फ स्किन को ही नुकसान नहीं होता बल्कि इससे दूसरी समस्या भी होती है. लेजर तकनीक ट्रीटमेंट के दौरान स्किन के जो बाल जलते है, उससे घातक केमिकल निकलता है जो कुछ ही क्षणों में हवा में घुल जाता है. इससे हम अपनी आंखो को सुरक्षित न रखे तो इसका बुरा प्रभाव हमारी आंखो पर पड़ता है. इसलिए ट्रीटमेंट के दौरान आंखो को ढंक कर रखे.

लेजर ट्रीटमेंट के दौरान जो धुआं निकलता है वह इतना नुकसानदायक होता है कि उससे कैंसर होने की आशंका तक होती है. इस धुंए में कई किस्म के केमिकल होते है जिससे स्किन में खुजली, जलन जैसी समस्या हो सकती है. इसमें कार्बनमोनो ऑक्साइड और बेंजीन जैसे तत्व मिले होते है. इसके नाक में जाते ही फेफड़े में समस्या होने लग जाती है.

ये भी पढ़े 

पुरुषों को इन आदतों में बदलाव लाना चाहिए

साँस लेने के ये है सही तरीके

रोटी और चावल, दोनों में से क्या है बेहतर ?