लालू की तबियत में हुआ सुधार, 17 महीने बाद वापस भेजे जा सकते हैं जेल

लालू की तबियत में हुआ सुधार, 17 महीने बाद वापस भेजे जा सकते हैं जेल

रांची: चारा घोटाले में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो और बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव की तबीयत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। अब वे कभी भी बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में शिफ्ट किए जा सकते हैं। जेल अधीक्षक अशोक कुमार चौधरी ने कहा कि डॉक्टर की रिपोर्ट में सब कुछ सामान्य आया तो लालू प्रसाद जेल शिफ्ट कर दिए जाएंगे। हम उन्हें जेल में शिफ्ट करने के लिए सकारात्मक रिपोर्ट की प्रतीक्षा कर रहे हैं। हमें अब तक डॉक्टर की रिपोर्ट नहीं मिली है। 

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (71) लगभग डेढ़ वर्ष से रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं। यहां उनके शुगर, किडनी, हाई ब्लड प्रेशर, फिस्चुला, लीवर व किडनी से संबंधित 11 बीमारियों का उपचार डॉ उमेश प्रसाद और डॉ डीके झा की निगरानी में चल रहा है। रिम्स में उपचार के दौरान लालू प्रसाद की तबीयत में अब पूरी तरह सुधार बताया जा रहा है। यहां लालू की सुरक्षा के लिए 42 पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं।

चारा घोटाले के विभिन्न मामलों में सजा पाने के बाद लालू प्रसाद यादव ने जेल के 19 महीनों में से 17 महीने हॉस्पिटल में बिताए हैं और अब भी उनका स्वास्थ्य पूरी तरह से ठीक नहीं है। वे 23 दिसंबर, 2017 से जेल में हैं। तब जेल जाने के सिर्फ दो महीने बाद ही उनका स्वास्थ्य बिगड़ गया था। लालू को पहले रिम्स में भर्ती कराया गया, फिर बेहतर उपचार के लिए उन्‍हें दिल्ली के ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) भेजा गया था ।

VIDEO: जम्मू-कश्मीर में तनाव पर गवर्नर मलिक ने तोड़ी चुप्पी, कहा- अभी तो कुछ नहीं होगा, लेकिन...

अब गिर सकती है कमलनाथ सरकार, IT की जांच में फंसे MP के 30 विधायक !

एंकर ने इमरान के बारे में कहा कुछ ऐसा, भड़के पाक पीएम ने भेजा 1 हजार करोड़ का मानहानि नोटिस