चारा घोटाला: लोकसभा चुनाव के लिए लालू की शरारत, बीमारी के बहाने SC से मांगी जमानत

रांची: चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव ने अब जमानत के लिए सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है. मिली जानकारी के मुताबिक, लालू यादव ने सुप्रीम कोर्ट में तीन मामलों में याचिका दाखिल की है. लालू यादव ने शीर्ष अदालत में मेडिकल ग्राउंड पर जमानत देने की मांग की है. दरअसल, रांची उच्च न्यायालय पहले ही लालू यादव की याचिका खारिज कर चुका है. लालू यादव वर्तमान में रांची स्थित रिम्स में इलाजरत हैं. 

यु टर्न मारते हुए शत्रुघ्न ने की पीएम मोदी की तारीफ, भाजपा बोली- नहीं है लोकसभा टिकट की गारंटी

लालू यादव के वकील कपिल सिब्बल ने उच्च न्यायालय में लालू यादव की तरफ से दलील देते हुए उनकी बीमारी और आयु का हवाला दिया था. उन्होंने कोर्ट को दलील दी है कि लालू यादव ने किसी तरह की कॉन्सपिरेसी नहीं की है. इसलिए उन्हें जमानत दी जानी चाहिए. वहीं, इसके उत्तर में सीबीआई ने कहा था कि सारा कार्य लालू यादव की जानकारी में था इसलिए, यह एक तरह की साजिश ही है और उन्हें किसी भी सूरत में जमानत नहीं मिलनी चाहिए. उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद यादव काफी समय से जेल में है है और लगातार तबियत खराब होने के बाद से वो रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाजरत हैं. बीते शनिवार को उनके बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बिना जेल अधीक्षक की अनुमति के अपने पिता से मिलने पहुंच गए थे. 

कांग्रेस नेता कीर्ति आज़ाद का बड़ा खुलासा, कहा मेरे पिता के लिए पार्टी ने लूटे हैं बूथ

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अदालत ने इस मामले की जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है. बताया ये भी जा रहा है कि अब लोकसभा चुनाव में ज्यादा दिन नहीं रह गए हैं और ऐसे में लालू यादव का जेल से बाहर आना राजद और कांग्रेस के लिए बेहद जरूरी है. उन्हें लोकसभा चुनाव की तैयारियां जो करनी है. पार्टी के साथ रणनीति बनानी है और प्रत्याशियों के नामों को तय करना है. उम्मीदवारों के नामों और सिंबल पर भी लालू यादव का हस्ताक्षर अनिवार्य है. ऐसे में राजद सुप्रीमो लालू यादव और पार्टी समर्थकों की नजरें सुप्रीम कोर्ट पर टिकी हुई हैं. 

खबरें और भी:-

मप्र किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी, जल्द माफ़ होगा 25 लाख किसानों का कर्जा

जम्मू कश्मीर: एक्शन मोड में मोदी सरकार, 155 नेताओं की सुरक्षा छीनी

भाजपा पर भड़की मायावती, कहा-अगर आप मजबूत हो तो गठबंध की जरुरत क्यों ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -