जसवंत सिंह के निधन पर भावुक हुए आडवाणी, बोले- उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति

जसवंत सिंह के निधन पर भावुक हुए आडवाणी, बोले- उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का 82 वर्ष की आयु में आज निधन हो गया. उनके देहांत पर भाजपा के वयोवृद्ध नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने गहरा शोक प्रकट किया है. आडवाणी ने कहा कि उनके पास संवेदना जाहिर करने के लिए शब्द नहीं हैं. उन्होंने कहा कि जसवंत सिंह न केवल पार्टी में उनके सबसे करीबी सहयोगी थे बल्कि दोनों के बीच गहरी मित्रता भी थी.

आडवाणी ने आगे कहा कि, "जसवंत जी एक शानदार सांसद, दक्ष राजनयिक, एक महान प्रबंधक और इन सबसे से ऊपर एक देशभक्त थे. राजस्थान से आने वाले जसवंत जी का कद भाजपा में सबसे ऊंचा था और वर्षों तक उन्होंने पार्टी में महत्वपूर्ण योगदान दिया. वाजपेयी सरकार में रहते हुए उन्होंने रक्षा, विदेश और वित्त मंत्रालय जैसी तीन महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को निभाया. इन मुद्दों को संभालने के दौरान छह वर्षों में अटल जी, जसवंत जी और मेरे बीच एक विशेष संबंध कायम हुआ."

इसके साथ ही आडवाणी ने कहा कि, "मेरी तरह ही जसवंत जी भी पुस्तकों के बहुत बड़े प्रेमी थे और हमने कई बार साझा रूचि के नोट्स भी शेयर किए. मैं उनके साथ और हमारे पारिवारिक रिश्तों को याद करता हूं. उनका चले जाना देश और खासकर मेरे लिए बेहद बड़ी क्षति है. शीतल जी, मानवेंद्र सिंह और भूपेंद्र सिंह और परिवार के अन्य सदस्यों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं. ओम शांति."

संजय राउत ने की देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात, साथ ही कही ये बात

बिहार चुनाव: मांझी को मिला 'महागठबंधन' छोड़ने का इनाम, नितीश सरकार ने दी जेड प्लस सुरक्षा

संजय राउत बोले - जिसमे शिवसेना और अकाली दल नहीं, मैं उसे NDA नहीं मानता