+

परेशानियों को खत्म कर देता है लहसुनिया रत्न

Jul 26 2019 05:00 PM
परेशानियों को खत्म कर देता है लहसुनिया रत्न

रत्नों की बात करें तो दुनियाभर के लोग कई रत्नों को धारण करते हैं जो अलग-अलग तरह के होते हैं. ऐसे में हर व्यक्ति के जीवन में रत्नशास्त्र और ज्योतिषशास्त्र का विशेष महत्व होता हैं. इसी के साथ लहसुनिया केतु का रत्न माना जाता हैं इसका स्वामी केतु ग्रह होता हैं. आपको बता दें कि संस्कृत में इसे वैदुर्य, विदुर रत्न, बाल सूर्य, उर्दू फारसी में लहसुनिया और अंग्रेजी में कैट्स आई कहा जाता हैं और जब भी बने बनाए कार्य में अड़चन या फिर कोई परेशनी आ जाती हैं. आप सभी को बता दें कि आपको चोट लग जाए, मन में कोई दुर्घटना का भय बना रहे और जीवन में उन्नति और सफलता के मार्ग बंद हो तो समझ ले कि केतु के कारण यह सब परेशानी चल रही हैं.

जी हाँ, इसमें रत्न ज्योतिष के मुताबिक जन्मकुण्डली के अदंर जब भी केतु आपकी परेशानी की वजह बने तो लहसुनिया रत्न धारण करना लाभकारी होता हैं और केतु रत्न लहसुनिया अचानक आने वाली परेशानी समस्याओं से व्यक्ति को निजात दिलाता हैं और त्वरित फायदा भी कराता हैं यह रत्न केतु के दुष्प्रभाव को शीघ्र ही समाप्त करने में सक्षम हैं. आप सभी को बता दें कि इस रत्न की वजह से मनुष्य के जीवन को परेशानियों से मुक्ति मिल जाती हैं.

आइए आपको बताते हैं लहसुनिया रत्न की पहचान - कहा जाता है इस रत्न में सफेद धारियां होती हैं जिनकी संख्या आमतौर पर दो, तीन या फिर चार होती हैं वही जिस लहसुनिया में ढाई धारी पायी जाती हैं. इसी के साथ यह उत्तम माना जाता हैं और यह सफेद, काला, पीला सूखे पत्ते सा और हरे चार तरह के रंगो में पाया जाता हैं. वहीं इन सभी पर सफेद धारियां अवश्य ही होती हैं ये धारियां कभी कभी धुएं के रंग की भी होती हैं.

राखी के पहले करोड़ो के मालिक बनने वाले हैं इस राशि के लोग, देखिए कहीं आप तो नहीं

सावन में कर ली मृत्युंजय महादेव शिव स्तुति तो नहीं रहेगा अकाल मौत का भय

घर की बुरी नजर को भगाने के लिए नींबू और लोंग से करें यह टोटका