नाबालिग पर लेडी डॉक्टर का अमानवीय जुल्म

नई दिल्ली : मॉडल टाउन में एक महिला डॉक्टर के घर में बंधक बनाकर रखी गई एक नाबालिग लड़की को दिल्ली महिला आयोग ने मुक्त कराया है. इस लड़की को बहुत ज़्यादा प्रताड़ित किया जा रहा था. लड़की के शरीर पर मारपीट, जलाने, काटने के निशान है. उसे कैंची से भी चोट पहुंचाई गई. खाना और स्वेटर तक नहीं दिया गया.

महिला आयोग के हेल्प लाइन नंबर 181 पर एक व्यक्ति ने सूचना दी, जिसके बाद आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल पुलिस के साथ लेकर शुक्रवार की शाम वहाँ पहुंची और लड़की को मुक्त कराया. लड़की गंभीर हालत को देखते हुए उसे फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया. पुलिस उपायुक्त असलम खान ने बताया कि मॉडल टाउन पुलिस थाने में आरोपी लेडी डॉक्टर के खिलाफ किशोर न्याय अधिनियम व बंधुआ मजदूरी अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है. स्वाति मालीवाल ने बताया कि मॉडल टाउन के कल्याण विहार में रहने वाली डॉक्टर निधि चौधरी के घर से झारखंड निवासी बच्ची को मुक्त कराया गया है, जिसे चार महीने पहले एक प्लेसमेंट एजंसी के द्वारा घरेलू काम के लिए यहाँ काम पर लगाया था.

स्वाति को पीड़िता ने बताया कि काम के बदले उसे पैसा देना दूर, उसे रोजाना बुरी तरह से पीटा जाता था. किशोरी के पूरे शरीर पर गहरे घाव, काटने, खरोंचने और जलाने के निशान हैं. उसे प्रैस से जलाया गया, उस पर गर्म पानी फेंका, कैंची से आँख के पास वार किया, कई बार गला दबाने की कोशिश की गई. उसे कई-कई दिनों तक खाना नहीं दिया जाता था और सर्दी में भी गर्म कपड़े नहीं दिए. स्वाति ने पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को सख्त से सख्त सज़ा दिलाने की मांग करते हुए कहा कि लड़की के इलाज, उसे परिवार के साथ मिलने और उचित मुआवजे की व्यवस्था की जाएगी. 

किशोरी को अगवा कर सिगरेट से दागा,रेप के बाद हत्या

हरियाणा में एक और निर्भया से दरिंदगी

एंबुलेंस से हो रही शराब तस्करी पकड़ाई

Most Popular

- Sponsored Advert -