क्या हसीन इत्तेफाक़ था

्या हसीन इत्तेफाक़ था 
तेरी गली में आने का...
किसी काम से आये थे 
और किसी काम के ना रहे…

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -