आज है कूर्म जयंती, इस गुप्त उपाय को करते ही हो जाएंगे मालामाल

भगवान विष्णु के हर अवतार का अपना विशेष महत्व है। जी हाँ और इन्हीं अवतारों में भगवान विष्णु का एक अवतार कूर्म अर्थात कछुए का भी था। आप सभी को बता दें कि आज यानी कि 15 मई को कुर्म जयंती के अवसर पर भगवान विष्णु के इसी अवतार की पूजा अर्चना का विधान है। जी हाँ और कूर्म जयंती वैशाख मास की पूर्णिमा (Vaishakh Purnima 2022) के दिन मनाई जाती है। आप तो जानते ही होंगे वैशाख पूर्णिमा तिथि का आरंभ कल से हो रहा है ऐसे में यह जयंती कल तक यानी कि 16 मई तक मनाई जाएगी।

वहीं पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन भगवान विष्णु कच्छप (कछुआ) अवतार लेकर प्रकट हुए थे। इसी के साथ ही समुद्र मंथन के वक्त अपनी पीठ पर मंदरांचल पर्वत को उठाकर देवताओं व दानवों की सहायता भी की थी। अब आज कुर्म जयंती के पर्व पर हम आपको कुछ बेहद ही खास गुप्त उपाय बताने जा रहे हैं जो अगर कर लिए जाए तो धन से जुडी सभी समस्या खत्म हो जाती हैं।

- कूर्म जयंती पर नया मकान या कुछ अन्य निर्माण करा रहे हैं तो चांदी का कछुआ डालने से घर के लोगों की तरक्की व ऐश्वर्य बढ़ता है और वास्तु दोष समाप्त हो जाता है। इसके अलावा बच्चों की पढ़ाई के लिए मिट्टी का कछुआ उनके कमरे में स्थापित करें। इसके साथ ही लोग अपने सोने के कमरे में धातु का कूर्म (कछुआ) रखकर मानसिक शांति व अच्छी नींद पा सकते हैं।

- कूर्म जयंती पर रसोई घर में कछुए की स्थापना करें, इससे रसोई घर में बनने वाली कोई भी वस्तु रोगमुक्त रहेगी। केवल यही नहीं बल्कि छत पर कूर्म की स्थापना करने से शत्रुओं का नाश होता है। अगर आप किराए के मकान में रह रहे हैं, तो अपने मकान के लिए भगवान कूर्म की पूजा करेंगे तो विष्णु जी की जरूर कृपा बरसेगी।

- अगर कमरा, रसोई, खिड़की आदि सही दिशा में नहीं है तो उन्हें तोड़ने की बजाय कछुए का निशान लाल चंदन, कुमकुम व केसर को मिलाकर बनाएं, जिसका मुंह नीचे पिछला हिस्सा आकाश की ओर हो। जी हाँ और यह प्रयोग कूर्म जयंती पर शाम को करें इसकी पूजा करें, तो इन स्थानों के वास्तु दोष दूर होते हैं।

- कहते हैं चांदी या धातु से बना कछुआ घर पर लाना बहुत शुभ होता है। इससे नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह कम होता है। जी हाँ और आप घर की उत्तर दिशा में कूर्म यंत्र भी रख सकते हैं। इसके अलावा इसे बेडरूम में रखने की बजाए ड्रॉइंग रूम में रखें। जिस घर में धातु से बना कछुआ रहता है, वहां कभी धन के भंडार खाली नहीं रहते हैं।

अपने जीवन में आज ही अपनाए गौतम बुद्ध के ये अनमोल प्रेरणादायक विचार

सपने में खुद को मरते देखने के होते हैं अलग-अलग मतलब, जानिए यहाँ

चंद्र ग्रहण: शंख से करें यह उपाय, घर में आएगा इतना धन कि संभाल नहीं पाएंगे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -