कुर्दिश स्पेशल फोर्सेस ने दूसरी बार बचाया मार्लिन स्टिवैनी को आईएस के चुंगल से

Feb 25 2016 08:25 AM
कुर्दिश स्पेशल फोर्सेस ने दूसरी बार बचाया मार्लिन स्टिवैनी को आईएस के चुंगल से

नई दिल्लीः मार्लिन स्टिवैनी निवार्लेन नाम की 16 वर्षीय लड़की को कुर्दिश स्पेशल फोर्सेस ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से दूसरी बार बचाया है। मार्लिन स्टिवैनी निवार्लेन स्वीडन की रहने वाली है। यह दूसरा मौका है जब कुर्दिश फोर्सेस ने 17 फरवरी को मर्लिन को आईएस से मुक्त करवाया।

स्वीडन मीडिया के अनुसार
स्वीडन मीडिया का कहना है कि, यह दूसरा मौका है जब मार्लिन स्टिवैनी को आईएस के चुंगल से बचाया गया है। साथ में मीडिया ने खुलासा किया है कि मार्लिन इससे पहले अक्टूबर 2015 में भी इराकी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के चुंगल में फंस गई थी। उस समय भी कुर्दिश स्पेशल फोर्सेस ने मार्लिन को आतंकियो से आजाद कराया था। जबकि उस समय मार्लिन प्रैग्नेट भी थी, और मोसल में उन्होंने एक बच्चे को जन्म भी दिया था। जबकि मर्लिन के पति की रूसी हवाई हमले में मौत हो गई थी। तब से वह अकेली रह रही थी।

जानकारी के अुनसार
रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि साफ की गई है कि 16 वर्षीय मर्लिन स्टिवैनी निवार्लेन को आईएस के चुंगल से सफलतापूर्वक 17 फरवरी को बचा लिया गया था। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि अभी फिलहाल मार्लिन इराकी कुर्दिस्तान में है। टाइम्स ने यह भी दावा किया है कि आईएस का एक आतंकी मर्लिन को फंसाकर मोसुल ले गया था। और बाद में उस आतंकी ने मर्लिन को भटका दिया था। पर कुर्दिश स्पेशल फोर्सेस ने मर्लिन को आतंकी के चुंगल से सफलतापूर्वक बचा लिया था।