लाखों की नौकरी छोड़कर महिला अघोरी बनी ये महिला, शमशान में करती है पूजा

कुंभ में कई अलग-अलग तरह के साधु-संन्यासियों का जमावड़ा लगा हुआ है और इनमे से कई तो ऐसे हैं जो अपने अलग कारनामे के कारण चर्चाओं में बने हुए हैं. कुछ साधू-संत पढ़े-लिखे होते हैं और साधु-संत अमीर घर से आते हैं. इन्हीं में से एक हैं प्रत्यंगीरा नाथ, जो एक महिला अघोरी हैं और इस समय प्रयागराज कुंभ में हैं. इन महिला अघोरी की खास बात ये है कि ये पढ़ी-लिखी और शादीशुदा हैं.

प्रत्यंगीरा मूल रूप से हैदराबाद की रहने वाली हैं और वो कंप्यूटर एप्लीकेशन में ग्रेजुएशन है. इतना ही नहीं उन्होंने तो एचआर में एमबीए तक किया है. अघोरी बनने से पहले प्रत्यंगीरा एक नामी सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करती थीं. साल 2007 में उनकी शादी हुई थी. खास बात तो ये है कि उनकी एक बेटी भी थी लेकिन पिछले 8 साल से वो तपस्या में लीं हो गई है. अब उन्होंने बाहरी दुनिया को छोड़कर श्मशान का रास्ता चुन लिया और महिला अघोरी बन गईं.

आपको बता दें महिलाओं का श्मशान या कब्रिस्तान जाना मना है, लेकिन ये महिला अघोरी श्मशान में ही शिव साधना करती हैं. ये अघोरी महिला नरमुंडों और रुद्राक्ष की माला गले में पहनती है और काले रंग के कपड़ें भी पहनती हैं. प्रत्यंगीरा सिर्फ रात में ही भगवान शिव और मां काली की साधना करती हैं. उनका ऐसा कहना है कि वो लोगों के कल्याण के लिए ही अघोरी बनी हैं. महिला अघोरी ने बताया कि उनकी साधना रात में करीब 11 बजे से शुरू हो जाती है और फिर ये रात के 3-4 बजे तक चलती है.

शादी के मंडप में दूल्हे की हुई ऐसी हालत तो घबराई दुल्हन ने शादी से किया इंकार

इस अजीब बीमारी से ग्रसित है ये लड़की, ड्रायर बिना नहीं जाती बाहर

इस स्कूल में अगर पढ़ना है तो पहले बनवाना होगा पासपोर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -