इब्राहिमपटनम बनेगा इतिहास का साक्षी, कृष्णा से होगा गोदावरी का मिलन

Sep 16 2015 11:08 AM
इब्राहिमपटनम बनेगा इतिहास का साक्षी, कृष्णा से होगा गोदावरी का मिलन

इब्राहिमपटनम : देश की महत्वपूर्ण नदी जोड़ो योजना के अंतर्गत एक बार फिर देश की दो नदी संस्कृतियां आपस में जुड़ने के लिए बेताब हैं। जी हां, आज इस बारे में आंध्रप्रदेश की एन. चंद्रबाबू नायडू सरकार द्वारा कदम उठाए जाऐंगे। दरअसल राज्य के इब्राहिमपटनम गांव में कृष्णा और गोदावरी नदियों को आपस में जोड़ा जाएगा। गोदावरी से कृष्णा में लगभग 80 टीएमसी पानी छोड़े जाने की योजना है। इस दौरान यह बात सामने आई है कि इब्राहिमपटनम के समीप नदियों के संगम के स्थान को पर्यटन के लिए तैयार किया जाएगा।

यहां पर्यटन नगरी का निर्माण किया जा रहा है। इन नदियों को जोड़ने से राज्य में पानी की आपूर्ति की जा सकेगी। कृषि के लिए पर्याप्त पानी दिया जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में राजग द्वारा राष्ट्रीय नदी जोड़ो अभियान चलाया गया। 

जिसमें इस योजना को पुनर्जीवित किया गया। गोदावरी से कृष्णा को जोड़ने को लेकर कार्य किया गया। पश्चिम गोदावरी के पट्टीसम गांव में गोदावरी नदी की पट्टीसीमा सिंचाई परियोजना पर कार्य करने की योजना तैयार की गई। अब इस प्रोजेक्ट के तहत गोदावरी राइट बैंक से पट्टीसम गांव के समीप पोलवरम बांध क्षेत्र में नदी की धारा की ओर पानी को लिफ्ट किया जाएगा। साथ ही इसके बाद पोलवरम की मुख्य नहर में इसे गिरा दिया जाएगा। इससे विद्युत उत्पादन भी किया जा सकेगा।