शिम सुक को महंगा पड़ा कोच को सन्देश पहुंचाना, जानिए क्या है मामला

2 बार की शार्ट ट्रैक ओलंपिक चैंपियन दक्षिण कोरिया की शिम सुक को एक संदेश और भी ज्यादा महंगा साबित हो चुका है। उन्हें दो माह  के लिए निलंबित किया जा  चुका है। कोरिया स्केटिंग यूनियन ने  बोला है कि अनुशासन समिति ने शिम को निलंबित करने का निर्णय का लिया गया है। वह कोरियाई खेल और ओलंपिक समिति के सामने अपील कर सकती हैं और अदालत का दरवाजा भी खटखटा पाएंगे।

साथी खिलाड़ी को अपमानित और गिराने पर दो महीने के लिए निलंबित:  खबरों की माने तो शिम ने अपने कोच को संदेश भेजा था जिससे पता लगा था कि 24 वर्ष की शिम ने 2018 प्योंगचोंग खेलों में 2 साथी खिलाड़ियों चोई मिन जियोंग और किम अलांग को अपमानित किया में से एक को जानबूझकर गिरा दिया है। दरअसल यह संदेश वायरल  होने लगा था। 

बीजिंग शीतकालीन खेलों में नहीं ले पाएगी भाग: 2 माह के उपरांत के निलंबन की वजह से वह बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक में भी भाग नहीं ले पाएंगी। शीतकालीन ओलंपिक का आयोजन 4 फरवरी से होना है जिसके लिए शॉर्ट ट्रैक टीम के नाम 24 जनवरी तक सामने आने वाले है।   इतना ही नही शिम पर रेस फिक्स करने के भी इल्जाम लगे थे लेकिन पर्याप्त साक्ष्य न होने की वजह से  उन्हें क्लीन चिट दे गई गई थी।

पिछले 2 ओलंपिक में 3000 मीटर रिले में वह स्वर्ण पदक भी अपने नाम कर चुकी है। जिसके अतिरिक्त 2014 में एक रजत और एक कांस्य पदक भी उनके नाम है। वह 2013, 2014 और 2015 में वर्ल्डकप ओवरऑल चैंपियन भी रह चुकी है। यह खिलाड़ी पहले भी विवादों में रही है। शिम ने मी टू अभियान के अंतर्गत अपने 2018 खेलों के उपरांत अन्य पूर्व कोच पर यौन उत्पीड़न के भी इल्जाम  लगाए थे।

बेंजेमा के गोल ने टीम को दिलाई जीत, एथलेटिक बिलबाओ को 2-1 से दी मात

बीजिंग ओलंपिक जापान नहीं भेजेगा सरकारी प्रतिनिधिमंडल, जानिए क्या है कारण

दिग्गज फुटबॉलर पेले है इस बीमारी के शिकार, हॉस्पिटल से छुट्टी के बाद भी जारी रहेगा इलाज

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -