हमेशा दूसरों के खून की प्यासी रहती है ये प्रजाति, मानी जाती है खूंखार

आज आपको हम ऐसे आदिवासी के बारे में बताने जा रहे हैं जो बहुत ही खूंखार है. इतना ही नहीं ये आदिवासी कहीं और नहीं हमारे ही देश में हैं जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे. इनकी इस प्रजाति को बहुत खूंखार माना जाता है साथ ही जहां ये लोग रहते हैं उस गांव को सभी बहुत ही खतरनाक मानते हैं. आप भी नहीं जानते तो हम बता देते हैं उस गांव के बारे में जो बहुत ही खतरनाक है हर किसी के लिए. 
 
दरअसल भारत की सीमा पर एक गांव बसा है जहां कोयांक आदिवासी रहते है. इन आदिवासियों का आधा गांव भारत में तो आधा गांव म्यामांर में आता है और इस गांव का नाम है लोंगवा. इस गांव के सभी लोग काफी खुंखार माने जाते है. इतना ही नहीं इस गांव के दोनो ही हिस्से एक दूसरे के खून के प्यासें है और देखते ही सिर काट देते हैं. जानकारी दे दें कि भारत के इस पूर्वोत्तर राज्य में 16 जनजातियां रहती हैं. जिनमें से कोंयाक आदिवासियों को बेहद खूंखार माना जाता हैइनकी लड़ाई का कारण है  कबीलेे की सत्ता और जमीन जिस पर ये हंगामा वर्षो से चला आ रहा है और इस पर संघर्ष चला आ रहा है. 

कोयांक आदिवासी अपने कबीले और अपने लोगो के अलावा किसी और से कोई मतलब रखना पसंद नही करते. यहा तक कि कभी-कभी इनके त्यौहार पर भी लडाई और खून खराबा शुरू हो जाता है. जिस दिन भी यहां हत्या और दुश्मन का सिर धड से अलग किया जाता है उस दिन को ये लोग उत्सव के रूप में मानते है और इसे यादगार घटना माना जाता है. 

 

सुपरमार्केट से सांसद ने चुराया सैंडविच, उसके बाद जो हुआ वो हैरान कर देगा

Video : स्कूल जाने के लिए ये लड़कियां कर रही हैं खतरनाक काम

नशे में चूर हो रहे यहां के तोते और नील गाय, किसान हैं परेशान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -