कोरोना की मार: ई-सेक्स बना सेक्स वर्कर्स की कमाई का नया जरिया

कोरोना की मार: ई-सेक्स बना सेक्स वर्कर्स की कमाई का नया जरिया

कोरोना ने छीन ली उन गलियों की रंगीनियाँ
जहाँ कभी जाते थे लोग रातें रंगीन बनाने...

भले ही लॉकडाउन हट गया हो लेकिन कोरोना वायरस का खौफ खत्म नहीं हुआ है. अब भी लोगों का जीवन इसी वायरस के डर के साये में बीत रहा है. कई लोग आज भी अपने घरों में कैद हैं और बाहर आने-जाने से कतरा रहे हैं. इस दौरान कई लोगों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है. इन्ही में शामिल रहीं हैं सेक्स वर्कर्स. सेक्स वर्कर्स को भी कोरोना के डर से आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है लेकिन इसी बीच उन्होंने एक नया तरीका निकाला है. इस तरीके से वह कमाई भी कर सकेंगी और कोरोना वायरस का शिकार भी नहीं होंगी.

खोज लिया काम का नया तरीका - जी दरअसल, जिस तरह लॉकडाउन के बाद दुकानों में बाहर गोले बना दिए गए हैं, सभी लोग सेनेटाइजर रखने लगे हैं, और सभी ने अपने काम को करने का नया तरीका निकाल लिया है ठीक उसी तरह सेक्स वर्कर्स ने भी एक नया तरीका निकाला है. अब सेक्स वर्कर्स वीडियो चैट पर क्लाइंट से बात करती हैं और अपने क्लाइंट की डिमांड के हिसाब से उनके फोटोज भेज देती हैं. इसमें बिना किस वाला सेक्स, बिना फिजिकल कॉन्टेक्ट वाला डांस सबके अलग-अलग प्रकार है और सेक्स वर्कर्स के काम के नए तरीके हैं. इसके अलावा सेक्स वर्कर्स पेमंट भी ऑनलाइन ले रहीं है. 

कोलकाता - जैसा कि आप जानते ही हैं कि कोलकाता के रेड लाइट इलाके सोनागाछी को सेक्स वर्कर्स का इलाका माना जाता है. वहां रहने वाली सेक्स वर्कर का जीवन लॉकडाउन के दौरान बहुत बुरा हो गया है. लॉकडाउन में सरकार ने भी उनकी मदद नहीं की और क्लाइंट्स भी नहीं आ रहे है. ऐसे में अपने गुजारे के लिए सेक्स वर्कर्स ने फ़ोन का सहारा लिया. फ़ोन के द्वारा काम करने को लेकर सेक्स वर्कर का कहना है कि लॉकडाउन में उनके क्लाइंट की तरह-तरह की फरमाइश आतीं थीं जिनमे न्यूड फोटोज से लेकर लाल बॉर्डर वाली सफेद साड़ी तक में उन्हें देखना शामिल होता था. केवल इतना ही नहीं इस दौरान ऐसी भी सेक्स वर्कर थीं जिन्हे घरवालों से छिपकर ये काम करने पड़ते थे. लॉकडाउन में कई सेक्स वर्कर ने अपने घर में ही छुप-छुप कर अपने क्लाइंट्स से बातें की है. पुणे के रेड लाइट एरिया में जहाँ खाली समय में सेक्स वर्कर अपनी सहेलियों से गप्पेबाजी करती थीं वह अब फ़ोन पर क्लाइंट्स से बातें कर रहीं हैं.

फ़ोन सेक्स - कई सेक्स वर्कर्स हैं जो इस समय फोन सेक्स से अपना गुजारा कर रहीं हैं. उन्हें फ़ोन सेक्स के बदले ऑनलाइन पैसे मिल जाते हैं. सेक्स वर्कर्स वीडियो कॉल के लिए 500 रुपये लेती हैं जो लगभग 30 मिनट तक रहता है. दरबार महिला समिति समिति (डीएमएससी) की अध्यक्ष बिशाखा लस्कर का कहना है, 'संक्रमण फैलने को को लेकर हर कोई डरता है. वह जिस गली में रहता हैं, वहां कुल 130 लड़कियां रहती हैं. इसमें लगभग 95% अब कस्टमर्स को फोन सेक्स की पेशकश कर रही हैं.' 

भले ही किसी भी तरह हो लेकिन सेक्स वर्कर्स ने भी अपने गुजारे के लिए नया रास्ता खोज ही लिया है. कभी जिन सेक्स वर्कर्स को फ़ोन की जरुरत नहीं पड़ी उन्होंने इस लॉकडाउन में फ़ोन के इस्तेमाल से गुजारा करना सीख लिया. कहते हैं इंसान अपने गुजारे के लिए कोई ना कोई रास्ता निकाल ही लेता है ऐसा ही कुछ इन सेक्स वर्कर्स के साथ भी हुआ है. इस लॉकडाउन में सेक्स वर्कर्स को फ़ोन का इस्तेमाल करना सीखा दिया जो उनके आने वाले समय में भी उनके काम आ सकता है. उन्होंने इस दौरान फोन सेक्स और स्ट्रिपिंग, कामुक बातें करना सीख लिया है जो उनके लिए कमाई का एक नया जरिया बन चुका है.

लॉकडाउन में कंगाल हुआ यह एक्टर, पैसे कमाने के लिए बेच रहा सब्जी

आठ साल देश के लिए की ड्यूटी, रिटायर होने के बाद डॉगी को दी गई शानदार विदाई

यदि सेक्स में चाहते है लम्बे समय तक मज़ा, तो अपनाए यह तरीका