कोई न समझा मेरे दिल को

कोई न समझा मेरे दिल को

समझ न सका कोई मेरे दिल की बात को।

जख्म दुनिया ने बिना सोचे ही दे दिया।

जब सहना सिख लिया हमने इन जख्मो को तो,

लोगो ने हमें पत्थर दिल ही कह दिया।