बिपिन रावत का जो Mi-17 हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश, उसमें पीएम मोदी भी करते हैं सफर, जानिए इसकी खासियत

बुधवार को तमिलनाडु के कन्नूर में सेना का MI-17 हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। घने जंगलों में हुए इस हादसे के कारण हेलिकॉप्टर में आग लग गई। इस हेलिकॉप्टर में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत, उनकी वाईफ मधुलिका सहित सेना के 14 अधिकारी सवार थे। वहीं जनरल रावत को वेलिंगटन के मिलिट्री हॉस्पिटल में एडमिट किया गया है। मगर उनकी स्थिति कैसी इसको लेकर अभी तक सेना की ओर से कोई बयान नहीं आया है। रावत 31 दिसंबर 2016 से 31 दिसंबर 2019 तक सेना प्रमुख के पद पर रहे। इसके पश्चात् उन्होंने 1 जनवरी 2020 को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का जिम्मा संभाला। वह भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) है। इस दुर्घटना के पश्चात् MI-17 हेलिकॉप्टर की चर्चा हो रही है। ऐसे में आइए बताते हैं कि इस हेलिकॉप्टर की विशेषता होती है।।।

MI-17 हेलिकॉप्टर की खासियत:-


1- इस हेलिकॉप्टर की गति 250 किलोमीटर प्रति घंटा है। साथ यह 6000 मीटर की अधिकतम उंचाई तक उड़ान भरने में सक्षम है। एक बार में यह 580 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है।
2- MI-17V5 कई प्रकार से हथियारों से लैस है। इसमें शतर्म-5 मिसाइल्स, एस-8 रॉकेट, एक 23 मिमी मशीन गन, पीकेटी मशीन गन्स के साथ 8 फायरिंग पोस्ट्स सम्मिलित होते हैं।
3- इसी हेलिकॉप्टर का उपयोग 26/11 हमले के चलते कमांडो आॉपरेशन के तौर पर भी किया गया था। 
4- MI-17V5 ही वो वायुयान था, जिसने पाकिस्तानी लांच पैड को नष्ट किया था तथा सर्जिकल स्ट्राइक जैसे बड़े अभियान को अंजाम दिया था।
5- इस हेलिकॉप्टर में एक साथ 24 व्यक्ति बैठ सकते हैं। एक वक़्त में यह विमान 4000 किलोग्राम वजन ले जा सकता है। 

बता दे कि Mi-17V-5 विश्व का सबसे एडवांस ट्रांसपोर्ट हेलिकॉप्टर है। इसका उपयोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मतलब VVIP के मूवमेंट से लेकर आर्मी ऑपरेशन तक में होता है। दुनिया के लगभग 60 देश 12 हजार से अधिक Mi-17 हेलिकॉप्टर उपयोग करते हैं।

कौन है CDS बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत? हर दौरे पर इस कारण रहती हैं साथ

कल संसद में बयान जारी करेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

बिपिन रावत के साथ हुए हादसे से परेशान हुए गांव के लोग, बाबा केदार से की सलामती की दुआ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -