आखिर क्यों महिंद्रा की हर गाड़ी के नाम में जुड़ा होता है 'O'? बेहद ही खास है वजह

इस बदलते वक़्त में लोगों की पसंद भी बदलती जा रही है, इस बात में कोई भी शक नहीं है कि छोटे से छोटा और बड़े से बड़ा व्यक्ति गाड़ियों का शौक न रखता हो। फिर गाड़ी कोई भी हो लोगों को बस उस गाड़ी को चलाने में मजा आना चाहिए। एक छोटा व्यक्ति जिसकी हैसियत भले ही बड़ी कार खरीदने की न हो लेकिन वह बाइक खरीदने का दम जरूर रखता है। वैसे भी बड़ी गाड़ियों का शौक हो सिर्फ बड़े लोग ही रखते है। लेकिन शौक कैसा भी हो लेकिन सबसे ज्यादा मायने गाड़ी का ब्रांड रखता है। इस पर यदि मैं सवाल करूँ कि क्या कोई महिंद्रा के बारें में जनता है तो यह गलत होगा, लेकिन यदि में ये प्रश्न करूँ की महिंद्रा को तो आप सभी जानते है तो क्या आप जानते है कि महिंद्रा की हर कार के नाम के साथ O क्यों जुड़ा होता है। वैसे इस बारें में हर कोई जानना चाहता है कि ऐसा क्यों, आज हम आपको इस बारें में विस्तार से जानकारी देने जा रहे है कि आखिर महिंद्रा की हर कार के नाम के साथ O क्यों लिखा होता है। इस O शब्द पर चर्चा करने से पहले हम जान लेते है महिंद्रा कंपनी के बारें में कुछ बातें...

कौन है आनंद महिंद्रा-  आज सबसे पहले हम बात करने जा है कि महिंद्रा ग्रुप के हेड आनंद महिंद्रा का जन्म 1 मई 1955 को हुआ था। 66 साल के आनंद के दो भाई-बहन हैं अनुजा शर्मा और राधिका नाथ। बता दें कि आनंद की पत्नी का नाम अनुराधा महिंद्रा है। वैसे तो आनंद की पत्नी पेशे से पत्रकार है,  और जो एक लाइफ स्टाइल मैगजीन की फाउंडर, एडिटर और पब्लिशर हैं। इतना ही नहीं इंडिया के प्रसिद्ध मल्टीनेशनल महिंद्रा ग्रुप का हेड क्वार्टर मुंबई में बसा हुआ है। आनंद महिंद्रा इस कंपनी के चेयरमैन है। बात यदि उनके माता पिता की कि जाए तो सीईओ ऑफ द ईयर जैसे पुरस्कारों से नवाजे गए आनंद महिंद्रा के पिता हरीश महिंद्रा एक उद्योगपति थे और उनकी मां इंदिरा महिंद्रा एक गृहिणी थीं। ये तो हो गई आनंद महिंदा से जुड़ी कुछ कुछ अहम् और बेसिक बाते अब जानते है उनकी ही कंपनी में बनाई जाने वाली कारों के बारें में जिनके नाम के साथ O क्यों लिखा होता है। 

आप सभी इस बारें में अच्छी तरह से जानते है कि महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अब तक कई ऐसे कारें पेश की है जिन्होंने ग्राहकों का दिल बखूबी जीता है, हाल ही में महिंद्रा की XUV 700 को 5 स्टार रेटिंग भी दी जा चुकी है, महिंद्रा ने बोलेरो (Bolero), स्कोर्पियो (Scorpio) समेत कई गाड़ियों को पेश किया है, इन गाड़ियों के दाम और फीचर्स भी बेहद ही अच्छे है। इतना नहीं इन कारों के लॉन्चिंग से पहले ही इनकी बुकिंग शुरू हो जाती है, लेकिन किसी ने इस बात को नोटिस किया है कि महिंद्रा की अधिकांश गाड़ियों के नाम के पीछे O क्यों लगाया गया है। यदि आप महिंद्रा की अन्य गाड़ियों के नामों पर भी नजर डालेंगे तो आप पांएगे कि उनकी हर गाड़ियों के नाम के साथ O लगा हुआ है। लेकिन क्या ऐसा होना मात्र सयोंग है या फिर कंपनी खुद अपनी कारों के नाम को कुछ इस तरह से डिजाइन करती है। इस बात के पीछे कोई न कोई खास वजह तो जरूर है जो आज महिंद्रा की हर गाड़ी के पीछे O लगा हुआ है। तो चलिए आज हम जानते है कि महिंद्रा के कारों के नाम के पीछे की कहानी आखिर क्या है, आखिर क्यों कंपनी ने ऐसा किया है, उम्मीद करता हूँ की इस बारें में जानने के लिए आप भी बेताब होंगे, तो चलिए जानते है इस बारें में... 

O ही क्यों आता है हर नाम के पीछे-  तो चलिए आज हम सबसे पहले महिंद्रा के अलग नाम के साथ इस पहली को सुलझाते है कि क्या सच में ये बात सही है कि हर गाड़ी के नाम के पीछे O आता है। इसी तरह से महिंद्रा की सभी गाड़ियां आती है, जिनका नाम XUV 500 या 300 है तो इसमें भी अंतर में  0 ही देखने के लिए मिलता है, इतना ही नहीं जिसको बाहरी भाषा में O बोला जाता है, इसी तरह से O के साथ हर गाड़ियों का नाम ख़त्म होता है, और ये चीज केवल 4 पहिया वाहन में नहीं बल्कि 2 पहिया गाड़ियों के नाम भी O पर ही खत्म होते है जिसमें डूरो, रोडियो, स्टालिओ और पैन्टेरो जैसी बाइक्स शामिल है।

आखिर क्या है इसकी वजह- अब आप ये सोच रहे होंगे कि इसकी वजह क्या हो सकती है और आखिर क्यों कंपनी की तरफ से ऐसा किया जाता है। इस बारें में पहले भी कई बार रिसर्च की जा चुकी है और कुछ रिपोर्ट्स में खुलासा हुआ है कि महिंद्रा ने अपने नाम के पीछे O लगाने का सिलसिला अपने लक की वजह से शुरू कर दिया था, जिसे अधिकांश लोग अंधविश्वास भी बोलते है। लेकिन इस बारें में कंपनी का कहना है कि यदि वह हर गाड़ी के नाम के पीछे O लगाते है तो उनके सेगमेंट को अच्छा रिस्पॉन्स मिलता है और मार्किट में उनकी मांग तेजी से बढ़ती जाती है। इस बारें में आपको जानकर हैरानी होगी कि इस बात का खुलासा कंपनी के एक अधिकारी ने खुद किया है। 

कुछ रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि कुछ समय पहले महिंद्रा एंड महिंद्रा के ऑटोमोटिव एंड फार्म  इक्विपमेंट सेक्टर के प्रेजिडेंट पवन गोयनका ने कहा था कि बोलेरो और स्कोर्पियो की बिक्री में अपार कामयाबी हासिल करने के बाद से कंपनी ने इस बात का फैसला किया था कि उनकी हर गाड़ियों का नाम O पर से खत्म होगा, और कंपनी ने इस पर काम करना भी शुरू कर दिया। महिंद्रा कंपनी का ऐसा करना वाकई लाभदायक साबित हुआ, और उन्होंने इसे आगे तक जारी रखने का फैसला भी कर लिया। इतना ही नहीं उन्होंने इस बारें में अपनी बात को जारी रखते हुए यह भी कहा था कि ‘आप इसे महिंद्रा एंड महिंद्रा का अंधविश्वास मान सकते हैं, लेकिन यह हमारे लिए काम करता है।’

नोट- इसमें लिखी समस्त जानकारी सूत्रों से हासिल हुई है इस बात की पुष्टि न्यूज़ ट्रैक नहीं करता है।

मारुति लॉन्च करने जा रही अपनी नई कार, जानिए क्या है खासियत

जानिए क्या है कार्तिक की नई कार के फीचर्स

आमजन के दिलों पर राज करने आ रही महिंद्रा की नई कार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -