जानिए किस तरह हुई थी वर्ल्ड म्यूजिक डे की शुरुआत

आज 'द वर्ल्ड म्यूजिक डे' तथा देखा जाए तो हमारे जीवन में म्यूजिक का बहुत ही गहरा महत्व है। म्यूजिक ही है जिसने आज 'द वर्ल्ड म्यूजिक डे' पर संगीत जगत से जुड़ी तमाम बड़ी हस्तियों, शफकत अमानत अली, शान, कविता कृष्णमूर्ती, डॉ। एल सुब्रमण्यम, जसबीर जस्सी, मामे खान और पीट लोकेट जैसे दिग्गज सितारों को साथ लाने का काम किया है। अपनी सफलता का श्रेय ये सितारे रियाज को देते हैं और इसी बारे में हमें यहां अवगत करवा रहे हैं।

बॉलीवुड के दिग्गज सिंगरों में शामिल शफकत अमानत अली और शान ने भी चर्चा के दौरान कहा है कि, जो भी व्यक्ति वोकल म्यूजिक, इंस्ट्रूमेंट, परफॉर्मेंस आदि से जुड़ा है, उसे अपनी प्रतिभा को और निखारने के लिए हर दिन प्रैक्टिस यानी अभ्यास करना जरूरी हैं। इसे ही रियाज कहते हैं। जो भी लोग जीवन में संगीत के क्षेत्र में अपना लक्ष्य हासिल करना चाहते हैं, उनके लिए प्रैक्टिस करना बहुत जरूरी है।

हर रोज रियाज करना न सिर्फ आपकी आवाज को लय में लाता है बल्कि सुर-ताल का उतार-चढ़ाव भी ठीक करता है। एक सिंगल नोट पर रहते हुए एक सांस में रियाज करने या फिर होंठ बंद करके गले से आवाज निकालने से आपकी टोनल क्वालिटी मजबूत होती है। दूसरे शब्दों में कह सकते हैं कि इससे गला खुलता है। वहीं, लो नोट्स का रियाज भी हर स्तर से आवाज में लचीलापन लाने में सहायक होता है।

VIDEO! अचानक साइकिल से गिर पड़े राष्ट्रपति, लग गई लोगों की भीड़

अल्फ़ाज़ भी खत्म हो जाएंगे...आपकी तारीफ क्या करूँ पापा ये दिन भी कम पड़ जाएंगे

सिखों का क्या कसूर? गुरुद्वारा करते-परवान पर आतंकी हमला, बताया जा रहा इस्लामिक स्टेट का हाथ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -