अब आप भी जान सकते है रोज कितना कार्बन फुटप्रिंट कर होता है जेनरेट

अब आप भी जान सकते है रोज कितना कार्बन फुटप्रिंट कर होता है  जेनरेट

नई दिल्ली: कुछ ही समय पहले चंडीगढ़ प्रशासन ने 'कार्बन वाॅच' नाम से एक मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च कर दिया गया है। जिसका उद्देश्य कार्बन फुटप्रिंट को लेकर लोगों को जागरुक करना और एक व्यक्ति के कार्बन फुटप्रिंट का आकलन किया जाएगा। इस ऐप के द्वारा आप जान सकते है कि रोजमर्रा में एक व्यक्ति कितना कार्बन फुटप्रिंट जेनरेट कर सकता है। 'कार्बन वाॅच' हिन्दुस्तान का पहला मोबाइल एप्लिकेशन है जो उपभोक्ता को उनके इंडीविजुअल कार्बन फुटप्रिंट को समझने में सहायता करता है। इस ऐप में पानी की खपत, ट्रांसपोर्ट, एनर्जी और वेस्ट के आधार पर कार्बन फुटप्रिंट कितना जेनरेट हो रहा है उसको लेकर जानकारी दी जाने वाली है।

क्या है कार्बन फुटप्रिंट: हर महीने आपके द्वारा उपभोग किए जाने वाले पानी की मात्रा जैसी डिटेल्स आप ऐप में देते हैं, तो यह आपके कार्बन फुटप्रिंट को लेकर आपको 0 से 10 के मध्य का स्कोर दे रहा है। आपकी गतिविधियों का कारण  से जेनरेट होने वाली कार्बन डाइऑक्साइड को उसका कार्बन फुटप्रिंट कहा जा रहा है।

गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है 'कार्बन वाॅच' ऐप: हम बता दें कि मोबाइल फोन में गूगल प्ले स्टोर से 'कार्बन वाॅच' ऐप को डाउनलोड कर सकते है। IOS पर उपलब्ध होने के लिए ऐप्पल उपभोक्ता को थोड़ी प्रतीक्षा करना होगा। ऐप में साइन अप करते वक़्त आपको अपना फोन नंबर और अपना ईमेल एड्रेस देना होगा। हालांकि, आपकी पहचान को सत्यापित करने के लिए वन-टाइम-पासवर्ड केवल आपकी ईमेल आईडी पर भी दिया जाने वाला है। आपके द्वारा सत्यापित किए जाने के उपरांत आप ऐप में लॉग इन कर सकते हैं और अपनी कार्बन फुटप्रिंट की गणना शुरू की जा सकती है।

करनाल की पटाखा फैक्ट्री में भीषण धमाका, 3 मजदूरों की झुलसकर मौत, 1 की हालत नाज़ुक

बंगाल के बम हमले का आतंकी हुआ गिरफ्तार

T20 ब्लास्ट के लिए बर्मिंघम बियर में शामिल हुए कार्लोस ब्रैथवेट