शॉन व्रोना ने बताए तेज़ टाइपिंग करने के सीक्रेट्स

शॉन व्रोना ने बताए तेज़ टाइपिंग करने के सीक्रेट्स

दुनिया में कई तरह के लोग हैं जो अपने हिडन टैलेंट को उजागर करके सुखियों में आ जाते हैं और सबके फेवरेट बन जाते हैं. इसी श्रेणी में उन लोगों का नाम भी आता है जो तेज़ टाइपिंग करते हैं. जी हाँ, तेज़ टाइपिंग करने वालों का अपना एक अलग ही टशन होता है. बाकी लोग उन्हें बड़ी खुन्नस भरी निगाहों से देखते हैं और सोचते हैं कि काश वो भी इस तरह तेज़ टाइपिंग कर पाते.

कई लोगों की मान्यता रहती है कि तेज़ टाइपिंग सीखनी पढ़ती है, लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है. हरेक व्यक्ति अपने अनुसार अपनी तकनीक का इस्तेमाल करके अपनी रफ़्तार से काम करता है. एक रिसर्च में बताया गया है कि जिस ऊँगली से आप जिस बटन को दबाते हैं, हमेशा उस ऊँगली से ही उस बटन को दबाना चाहिए.

लेकिन इस रिसर्च को गलत साबित करते हुए तेज टाइपिंग का अवॉर्ड जीत चुके शॉन व्रोना कहते हैं कि हर शब्द के साथ बटन दबाने का अलग तरीका होता है. शॉन बताते हैं कि महज 10 साल की उम्र में वह 10 मिनट में 108 शब्द टाइप कर लिया करते थे. शॉन के मुताबिक़ जो बटन आपकी ऊँगली के करीब रहता है, ऊँगली उसी बटन को दबाती है.

जीवन बीमा कंपनियों के नए प्रीमियम संग्रह में हुआ इजाफा

60 लाख रुपए खर्च कर बेटे ने पूरी की मरे हुए बाप की आखिरी इच्छा

खुद की बायोपिक की स्क्रीनिंग में नहीं जाएंगे संजय दत्त, इस बात का है डर

?