गॉड गिफ्टेड होते हैं 'रोलओवर टाइपिंग' करने वाले लोग

गॉड गिफ्टेड होते हैं 'रोलओवर टाइपिंग' करने वाले लोग

यह अक्सर देखा जाता है कि जिन लोगों की टाइपिंग स्पीड कम होती है वह लोग उन्हें बड़ी खुन्नस भरी नज़रों से देखते हैं, जिनकी टाइपिंग स्पीड ज्यादा होती है. तेज़ टाइप करने वाले लोगों की थिरकती उँगलियों को देखिकर बाकी लोग सोचते हैं कि काश वह भी इस तरह तेज़ टाइपिंग कर पाते. बताया जाता है कि ऑनलाइन गेम खेलने वाले लोगों की टाइपिंग स्पीड काफी ज्यादा होती है.

फ़िनलैंड में 1 लाख 68 हजार लोगों पर एक स्टडी के तहत इस बात की जानकारी हासिल की गई कि गेम खेलने वाले लोग अक्सर 'रोलओवर टाइपिंग' करते हैं. इसका मतलब यह कि यह लोग पिछले बटन को छोड़ने से पहले ही अगले बटन को दबा देते हैं. देखा गया है कि ज्यादा गेम खेलने वाले लोग लेफ्ट हैंड से की-बोर्ड चलाते हैं और राइट हैंड से माउस.

तेज़ टाइपिंग का पहला रूल यह है कि अगला बटन दबने से पहले पिछले बटन छूट जाए. वरना गलत कमांड के ज़रिये पूरे किए कराए पर पानी फिर सकता है. फ़िनलैंड में हुई स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ कि 'रोलओवर टाइपिंग' करने वाले लोग गॉड गिफ्टेड होते हैं. 'रोलओवर टाइपिंग' को सीखा नहीं जा सकता. हो सकता है अनजाने में आप भी इस तरीके को अपनाते हो, लेकिन आपको इस बारे में जानकारी ना हो.

60 लाख रुपए खर्च कर बेटे ने पूरी की मरे हुए बाप की आखिरी इच्छा

हर ऑफिस में पाए जाते है ऐसे-ऐसे नूमने

FIFA World Cup 2018: गूगल ने बदला फुटबॉल लवर्स के लिए डूडल