कलबुर्गी के हत्यारों की गिरफ़्तारी में देरी से दुखी लेखकों ने लौटाए पुरस्कार

By Sandeep Meena
Oct 04 2015 06:22 AM
कलबुर्गी के हत्यारों की गिरफ़्तारी में देरी से दुखी लेखकों ने लौटाए पुरस्कार

बेंगलुरू : कन्नड़ चिंतक एमएम कलबुर्गी की हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी में देर होने से दुखी 6 कन्नड़ लेखकों ने अपने पुरस्कार कन्नड़ साहित्य परिषद को वापस कर दिया है. बता दे की कलबुर्गी की 30 अगस्त को उनके आवास पर अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

कन्नड़ साहित्य परिषद् के अध्यक्ष पुंडलिक हलाम्बी के मुतबिक सभी 6 बेंगलुरू मेट्रोपोलिटन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन अरालू साहित्य पुरस्कार विजेताओं ने अपने पुरस्कार लौटा दिए हैं. कलबुर्गी के हत्यारों की गिरफ्तारी में देर होने से दुखी होकर उन्होंने अपने पुरस्कार लौटाए. हत्या के कारण अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को लेकर तूफान खड़ा हो गया. पुलिस अभी तक हत्यारों तक नही पहुंच पाई है, जबकि वे दक्षिणपंथी कट्टर तत्वों की संदिग्ध भूमिका की तफ्तीश कर रहे हैं.

CID मामले की जांच कर रही है और सरकार ने घोषणा की है कि जांच CBI को सौंपी जाएगी. पुरस्कार वापस करने के निर्णय से पहले जावड़े गौड़ा ने बताया था की अपराधियों को पकड़ने के लिए राज्य सरकार पर दबाव बनाने का यह एक तरीका है. हलाम्बी ने कहा कि युवा लेखकों ने विरोध के चलते अपने पुरस्कार लौटा दिए और प्रगतिशील लेखक के हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की.