पठानकोट आतंकी हमला सुरक्षा में चूक का नतीजा

Feb 02 2016 11:07 AM
पठानकोट आतंकी हमला सुरक्षा में चूक का नतीजा

नई दिल्ली : केंद्रीय गृहराज्य मंत्री किरेन रिजिजू द्वारा सुरक्षा में चूक होने के चलते पंजाब में पठानकोट और दीनानगर आतंकी हमले हुए, रिजिजू ने सुरक्षा के मसले पर कहा कि पंजाब में आतंकी हमले होने का कारण सुरक्षा व्यवस्था में कमजोरी आना थी। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के मसले पर पंजाब सरकार और केंद्र सरकार दोहरे आतंकी हमलों के बाद सुरक्षा पहलूओं पर मिलकर कार्य कर रहे हैं। पंजाब दौरे पर आए रिजिजू ने आतंकियों की घुसपैठ के मसले पर यह भी कहा कि इस मामले में कई सारे पेंच थीं। कुछ स्थानों पर बाड ही नहीं थी। तो कई स्थानों पर पानी आतंकियों के लिए रास्ता बना अर्थात् आतंकियों ने नदी - नाले का उपयोग घुसपैठ के लिए किया।

केंद्रीय गृहराज्यमंत्री किरेन रिजिजू के कहने का अर्थ था कि पंजाब में आतंकवाद के बढ़ते कदमों को रोकने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों ही प्रयास कर रही है। हालांकि आतंक पर लगाम लगने की पूरी कोशिशें की गई हैं। पंजाब में 1980 के दशक की ही तरह अशांति पैदा करने के प्रयत्न भी किए जा रहे हैं। हालांकि प्रत्येक कीमत पर शांति बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर सीमा सुरक्षा बल को आवश्यकता के अनुसार तैयार रखने को लेकर भी उन्होंने चर्चा की। 

भारत और पाकिस्तान को लेकर यह चर्चा की गई कि पाकिस्तान के साथ चर्चा में आतंकवाद महत्वपूर्ण मसला है। भारत इस मसले को दरकिनार कर चर्चा नहीं करता है। सरकार भी पाकिस्तान से इस मसले पर जोर देकर चर्चा करती है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि अफगानिस्तान और पाकिस्तान के यहां रहने वाले व भारत की नागरिकता प्राप्त करने वाले लोगों को लेकर जो सवाल किए गए उनके उत्तर में रिजिजू द्वारा कहा गया कि सरकार इस संबंध में अधिकारियों से चर्चा कर रही है। अधिकारियों को यह मामला सौंपा गया है।