देश के नए कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने संभाला पदभार, क्या Twitter पर कस पाएंगे नकेल ?

नई दिल्ली: मोदी कैबिनेट का विस्तार हो चुका है। बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल के 43 मंत्रियों ने शपथ ग्रहण की। जिनमे से कई को प्रमोट किया गया और कुछ नए चेहरों को टीम मोदी में शामिल किया गया है।  वहीं कुछ नेता ऐसे भी हैं, जो पहले भी केंद्रीय कैबिनेट में शामिल थे, लेकिन अब उनके विभाग बदल दिए गए हैं। ऐसा ही एक नाम है देश के पूर्व खेल मंत्री किरेन रिजिजू का, जिन्हे कानून मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया है। उन्होंने आज दफ्तर पहुंचकर कार्यभार भी संभाल लिया है

2019 में दोबारा मोदी सरकार बनने के बाद खेल मंत्री बनाए गए किरेन रिजिजू, रविशंकर प्रसाद की जगह ली है। उल्लेखनीय है कि इस समय देश के कानून मंत्रालय और सोशल मीडिया, खासकर Twitter के बीच जबरदस्त खींचतान चल रही है। दरअसल, Twitter देश के नए IT रूल्स को मानने में आनाकानी कर रहा है। पूर्व IT मंत्री रविशंकर प्रसाद कई बार Twitter को चेतावनी दे चुके हैं, लेकिन माइक्रो ब्लॉगिंग साइट मानने को तैयार नहीं दिख रहा है। ऐसे में नवनियुक्त कानून मंत्री किरेन रिजिजू के सामने ये बड़ी जिम्मेदारी होगी कि वे इस मुद्दे का समाधान करें। बता दें कि रिजिजू कैंपस लॉ सेंटर, फैकल्टी ऑफ लॉ, दिल्ली यूनिवर्सिटी से लॉ ग्रेजुएट हैं और केंद्र सरकार में विधि एवं न्‍याय मंत्रालय (Ministry of Law and Justice) का ज़िम्मा संभालेंगे।

बता दें कि, दिल्ली हाई कोर्ट भी IT नियमों को लेकर Twitter को फटकार लगा चुका है। ट्विटर द्वारा नए IT रूल्स का पालन न करने पर उच्च न्यायालय ने स्पष्ट कह दिया था कि अब हम Twitter को कोई प्रोटेक्शन नहीं दे सकते। सरकार ट्विटर के खिलाफ कोई भी एक्शन लेने के लिए स्वतंत्र है। ऐसे में अब ये देखना दिलचस्प होगा कि नवनियुक्त कानून मंत्री किरेन रिजिजू Twitter पर किस तरह नकेल कसते हैं। 

'बिक चुके महाराज अब एयर इंडिया को बेच देंगे...' ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कांग्रेस ने जताई आपत्ति

जो बिडेन 19 जुलाई को करेंगे जॉर्डन किंग की मेजबानी

अमेरिका के पश्चिम में तेजी से बढ़ रहा है डेल्टा संस्करण

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -