भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी इस तरह बनी राजनेता

Jun 09 2019 06:00 AM
भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी इस तरह बनी राजनेता

आज भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी, सामाजिक कार्यकर्ता और राजनेता किरण बेदी का जन्मदिन है. जी हाँ, साल 1972 में किरण बेदी भारतीय पुलिस सेवा में शामिल हुईं थीं और ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला बनीं थीं. इसी के साथ करीब 35 साल तक सर्विस में रहने के बाद 2007 में रिटायरमेंट ले लिया और किरण बेदी टीवी की चर्चित सीरीज 'आप की कचहरी' की होस्ट भी रह चुकी हैं जो आपने देखा ही होगा. आपको बता दें कि इस समय पुड्डुचेरी की राज्यपाल हैं.

जी हाँ, किरण का जन्म 9 जून 1949 में अमृतसर, पंजाब में हुआ था. उनके पिता का नाम श्री प्रकाश लाल पेशावरिया और माँ का नाम प्रेमलता है. उन्होंने ब्रज बेदी से शादी की है. डॉ॰ किरण बेदी भारतीय पुलिस सेवा की सेवानिवृत्त अधिकारी, सामाजिक कार्यकर्ता, भूतपूर्व टेनिस खिलाड़ी एवं राजनेता हैं और सन 1972 में भारतीय पुलिस सेवा में सम्मिलित होने वाली वे प्रथम महिला अधिकारी हैं. वहीं उन्होंने 35 वर्ष तक सेवा में रहने के बाद सन 2007 में स्वैच्छिक से सेवानिवृति ले ली. उन्होंने विभिन्न पदों पर कार्य किया है और वह संयुक्त आयुक्त पुलिस प्रशिक्षण तथा दिल्ली पुलिस स्पेशल आयुक्त (खुफिया) के पद पर कार्य कर चुकी हैं. किरण बेदी को निःस्वार्थ कर्त्तव्यपरायणता के लिए उन्हें शौर्य पुरस्कार मिलने के अलावा अनेक कार्यों को सारी दुनिया में मान्यता मिली है. इसी के कारण एशिया का नोबल पुरस्कार कहा जाने वाला रमन मैगसेसे पुरस्कार से भी उन्हें नवाजा गया.

जी हाँ, इसी के साथ उनको मिलने वाले अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों की श्रृंखला में शामिल हैं - जर्मन फाउंडे्शन का जोसफ ब्यूज पुरस्कार, नार्वे के संगठन इंटशनेशनल ऑर्गेनाजेशन ऑफ गुड टेम्पलर्स का ड्रग प्रिवेंशन एवं कंट्रोल के लिए दिया जाने वाला एशिया रीजन एवार्ड जून 2001 में प्राप्त अमेरीकी मॉरीसन-टॉम निटकॉक पुरस्कार तथा इटली का 'वूमन ऑफ द इयर 2002' पुरस्कार शामिल हैं. आपको बता दें कि वह एक अच्छी लेखक भी हैं और उन्होंने 'इट्स ऑलवेज पॉसिबल' तथा दो आत्मकथा 'आय डेयर' एवं 'काइंडली बेटन' नामक पुस्तक लिखी है.

पहले पार्टी को सही हाथों में सौंपे राहुल गाँधी, उसके बाद दें अध्यक्ष पद से इस्तीफा - वीरप्पा मोइली

आंध्र प्रदेश: सीएम सचिवालय पहुँचते ही जगन रेड्डी ने कर दी वरदानों की बौछार, झूम उठे कर्मचारी

केरल में पीएम मोदी ने किया जनसभा को संबोधित, बोले- देश ने नकारात्मकता को नकार दिया