खेसारी लाल यादव के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा, जानिए क्या है मामला?

भोजपुरी फिल्मों के मशहूर सिंगर एवं अभिनेता खेसारी लाल यादव के लिए अब सबकुछ ठीक नहीं है। उनके खिलाफ छपरा जिले की कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया है। खेसारी लाल यादव को बिहार में अदालती कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। खेसारी लाल यादव पर जमीन क्रय करने के पश्चात् जिस चेक से उसका पेमेंट किया उसे बाउंस कराने का इल्जाम है।

खेसारी लाल यादव के खिलाफ मृत्युंजयनाथ पांडे ने रसूलपुर थाना में 16 अगस्त 2019 को मुकदमा दर्ज करवाया था। जिसमें बताया गया है कि अपनी खरीदी हुई जमीन को बेचने के लिए उनकी शत्रुघ्न कुमार उर्फ खेसारी लाल यादव की पत्नी चंदा देवी से चर्चा हुई थी। तब दोनों के बीच 22 लाख 7 हजार रुपये में जमीन बेचने की बात हुई थी, इस जमीन की रजिस्ट्री 4 जून 2019 को एकमा रजिस्ट्री दफ्तर में हो गई। तत्पश्चात, जमीन का दाम नगद रुपये के बदले में खेसारी लाल यादव ने जमीन बेचने वाले को 18 लाख रुपए का चेक दिया। जो मृत्युंजयनाथ पांडे ने 20 जून 2019 को अपने अकाउंट में जमा कर दिया। मगर चेक 24 जून को वापस आ गया। 

तत्पश्चात, उन्होंने इसे फिर से 27 जून को जमा किया तो बैंक द्वारा 28 जून 2019 को चेक बाउंस होने की खबर दी गई। इसके बाद जमीन बेचने वाले मृत्युंजयनाथ पांडे ने खेसारी लाल यादव पर प्राथमिकी दर्ज करवाई थी। तथा इल्जाम लगाया था कि उन्होंने जमीन का दाम अदा करने के लिए चेक दिया वो बाउंस हो गया। वही पुलिस ने 22 अगस्त 2020 को आरोप पत्र दर्ज किया गया। इसमें दफा 406 भारतीय दंड विधान 138 एनआई एक्ट के अंतर्गत दर्ज कर दिया गया। कोर्ट द्वारा 22 जनवरी 2021 को अपराधी शत्रुघ्न कुमार उर्फ खेसारी लाल यादव के खिलाफ समन जारी करने का आदेश दिया गया। 

शिल्पी-पवन की कैमिस्ट्री ने जीता फैंस का दिल, 24 घंटे में मिले लाखों व्यूज

निरहुआ को छोड़ आम्रपाली दुबे ने थामा इस शख्स का हाथ, लोग बोले- आंख लड़ाइए लेकिन...

येलो कलर के डीप नेक टॉप में मोनालिसा ने ढाया कहर, फैन्स बोले- अब बस भी करों...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -