खाने का लॉजिक

रवि और कपिल दोनों दोस्त पहली बार एक होटल में खाना खाने के लिए गए।

होटल में उन्होंने तंदूरी चिकन का ऑडर दिया। वेटर जैसे ही तंदूरी चिकन लेकर टेबल पर आया ।

वैसे ही कपिल ने तंदूरी चिकन का एक बड़ा टुकड़ा अपनी प्लेट में रख लिया और खाने लगा।

कपिल की इस हरकत को देखकर रवि को बुरा लगा और कपिल को कहने लगा,

खाने में तुम्हे थोड़ा धैर्य रखना चाहिए, साथ ही आदर के साथ खाना चाहिए।

रवि की इन बातों को सुन कर कपिल ने कहा यदि तुम्हे मौका मिलता तो तुम क्या करते एक बड़ा टुकड़ा ही उठाते ना।

रवि ने कहा नहीं में छोटा टुकड़ा ही उठाता

रवि की इन बातों को सुन कर कपिल ने कहा जब तु छोटा टुकड़ा ही उठाता तो,

फालतू प्रवचन किसे सुना रहा है, चुप चाप तंदूरी चिकन का मजा ले ना।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -