केरल में होगा स्पुतनिक वैक्सीन का उत्पादन, रूस से बात कर रही विजयन सरकार

कोच्ची: कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनज़र राज्य सरकारें अपने यहां की जनता का जल्द से जल्द टीकाकरण कराने पर जोर दे रही हैं. कोरोना से बुरी तरह प्रभावित राज्य केरल अपने यहां स्पुतनिक वैक्सीन का उत्पादन करने के लिए रूस के साथ बातचीत कर रहा है. सरकार ने इसके लिए 10 एकड़ भूमि भी चिन्हित कर ली है. बताया जा रहा है कि इसके लेटर ऑफ इंटेंट (Letter of intent, LOI) पर अगले 3 दिनों के अंदर दस्तखत किए जाने की संभावना है. दोनों पक्षों के बीच वैक्सीन के उत्पादन को लेकर बातचीत तभी शुरू हो गई थी जब वैक्सीन की भारी किल्लत थी.

फिलहाल प्रारंभिक चर्चा चल रही है और दोनों पक्षों के बीच नियम और शर्तों पर चर्चा की जा रही है. प्रदेश के मुख्य सचिव और उद्योग अधिकारी रूसी अधिकारियों, काउंसिल जनरल और प्रत्यक्ष निवेश बोर्ड (Direct investment board) के साथ बात कर रहे हैं. राज्य के उद्योग मंत्री पी राजीव ने कहा कि यह केरल के लोगों के लिए लाभकारी होगा, किन्तु हमें अंतिम फैसला पर पहुंचना होगा. तिरुवनंतपुरम के लाइफ साइंस पार्क में इस परियोजना के लिए पहले ही 10 एकड़ भूमि तय की जा चुकी है.

इससे पहले सीएम पी विजयन ने खुद उन कंपनियों को आकर्षित करने को लेकर घोषणा की थी, जो केरल से वैक्सीन बनाने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि इससे पहले हमने केएसडीपी (केरल स्टेट ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड) को जिम्मेदारी सौंपी है. सरकार ने एक विशेषज्ञ समिति गठित की है, और उन्होंने फैसला किया कि लाइफ साइंस पार्क थोनक्कल में भूमि, वैक्सीन बनाने के लिए उपयुक्त है.

50 प्रतिशत से अधिक एनआरआई ने यूपी सरकार को भेजे निवेश प्रस्ताव

नेहू कॉलेजों में यूजी पाठ्यक्रमों के छात्रों अब चुन सकेंगे ये खास सब्जेक्ट

कोरोना को 'फर्जी' बताने वाले दिल्ली के डॉक्टर के खिलाफ दर्ज हुआ केस, जाँच में जुटी क्राइम ब्रांच

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -