केरल की मदद में केंद्र से आगे निकला यूएई, 700 करोड़ देने का किया ऐलान

नई दिल्ली: केरल राज्य में धीरे-धीरे जनजीवन सामान्य हो रहा है, इलाकों में से बाढ़ का पानी उतरने लगा है, राहत और बचाव कार्य जोरों पर चल रहे हैं. देश के अलावा दुनिया से भी केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद आ रही है. हाल ही में केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने बताया है कि संयुक्त अरब अमीरात ने केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिए 700 करोड़ देने की पेशकश की है.

केरल बाढ़: पीड़ितों के लिए फरिश्ता बने राजकुमार

विजयन पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे, उन्होंने आगे कहा कि केरल कैबिनेट ने बाढ़ के बाद केरल के राहत, पुनर्वास और पुनर्निर्माण पर चर्चा के लिए 30 अगस्त को एक विशेष असेंबली सत्र आयोजित करने के लिए गवर्नर को सिफारिश करने का फैसला किया है. इसी बीच रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) की 105 बटालियन और रोटरी के जी 36 समूह  ने 10 ट्रकों में केरल के एर्नाकुलम, कोट्टायम और अलाप्पुझा के लिए राहत सामग्री भेजी है. 

केरल बाढ़: अमेरिका के एक एनजीओ ने पीड़ितों के लिए एकत्रित किए 10 हज़ार डॉलर

आपको बता दें कि अब तक केंद्र सरकार की तरफ से केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 600 करोड़ की वित्तीय सहायता दी गई है. पहले केरल को 100 करोड़ की सहायता दी गई थी, उसके बाद पीएम मोदी ने केरल दौरे के दौरान उन्हें 500 करोड़ देने का ऐलान किया था. इस बीच यूएई द्वारा 700 करोड़ की सहायता के ऐलान ने केंद्र की निष्पक्षता पर सवाल खड़े कर दिए हैं, जानकारों का कहना है कि केरल राज्य में कम्युनिस्ट सरकार होने से केंद्र इसे तवज्जो नहीं दे रहा है. 

खबरें और भी:-​

केरल बाढ़ : आखिर क्यों एक कागज के लिए फंदे पर झूल गया देश का भविष्य ?

केेरल के लोगों की मदद के लिए आगे आया 'बाहुबली'

केरल बाढ़ के तीन अनजाने मददगार, जिन्होंने क़ायम की मिसाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -