केरल बाढ़ के बाद दिखा राज्य में सांप्रदायिक सौहार्द, मस्जिदों में रह रहे हिंदू, मुसलमान कर रहे मंदिरों की सेवा

Aug 23 2018 07:06 PM
केरल बाढ़ के बाद दिखा राज्य में सांप्रदायिक सौहार्द, मस्जिदों में रह रहे हिंदू, मुसलमान कर रहे मंदिरों की सेवा

तिरुवनंतपुरम। केरल में आई बाढ़ से जन-जीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। अब जब बाढ़ का पानी उतरने लगा है, तो केरल में जीवन पटरी पर आने लगा है। लेकिन बाढ़ के बाद केरल में अब अद्भुत सांप्रदायिक सद्भाव देखने को मिल रहा है। पूरे देश में  जहां जाति और धर्म के नाम पर हिंसा हो रही है, वहीं केरल में हिंदू और मुसलमान मिलकर देश के लिए काम कर रहे हैं। 

केंद्र सरकार ने क्यों ठुकराई यूएई की 700 करोड़ की मदद ?

केरल में इस समय राहत और पुनर्वास के लिए कार्य चल रहा है। ऐसे में मलप्पुरम के हिंदुओं के लिए वहां की एक मस्जिद आशियाना बनी हुई है।  यहां पर बाढ़ में अपना सब कुछ खो चुके 17 हिंदू परिवारों के बच्चे, बूढ़े, महिलाये यहां पर शरण लिए हुए हैं और मस्जिद की ओर से उनके खाने-पीने, रहने की पूरी व्यवस्था की जा रही है। इतना ही नहीं केरल में कुछ मुस्लिम समुदाय बाढ़ से तहस-नहस हुए दो मंदिरों की मरम्मत भी कर रहे हैं।
क्या बाढ़ को रोकने के लिए बनाये गए बांध ही बन रहे है बाढ़ की वजह ?

ग्राम प्रधान पी टी उस्मान के मुताबिक 8 अगस्त से राहत शिविर बनी इस मस्जिद में बाढ़ प्रभावितों की पूरी मदद की जा रही है। उन्होंने बताया कि बकरीद को देखते हुए यहां मुस्लिम शरणार्थियों के लिए भी पूरी व्यवस्था की गई। सोशल मीडिया पर भी इस   सांप्रदायिक सद्भाव कार्य की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। गौरतलब है कि केरल में आई भीषण बाढ़ में 380 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और 3 लाख से ज्यादा लोग बेघर हो चुके है। 

ख़बरें और भी 

Kerala Flood : बाढ़ पीड़ितों को लेकर शख्स ने उठाये इस एक्टर पर सवाल

बाढ़ प्रभावित लोगों को खाना बनाकर खिला रहा है बॉलीवुड का ये सुपरहीरो

दिल के ऑपरेशन के लिए पाई पाई जोड़ी, लेकिन बाढ़ राहत के लिए दान किए पैसे