केजरीवाल सरकार ने सिक्किम को बताया अलग राष्ट्र, सीएम तमांग ने जताई आपत्ति

नई दिल्ली: दिल्ली की आप सरकार ने ‘सिविल डिफेंस कॉर्प्स’ के लिए वालंटियर्स की भर्ती के लिए अख़बारों में विज्ञापन दिया था। इसमें सिक्किम को नेपाल और भूटान के साथ एक पृथक देश के रूप में दर्शाया गया है। सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने इस पर आपत्ति जाहिर की है। उन्होंने एक पत्र के जरिए दिल्ली सरकार के इस रवैये पर आपत्ति जाहिर की और लिखा कि ये दुखदाई है। यहाँ तक खुद सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग ने भी ट्वीट कर इस आपत्ति जताई है और फ़ौरन सुधार करने को कहा है।

एससी गुप्ता ने अपने पत्र में लिखा कि ये एक बेहद ही नुकसानदायक क़दम है। उन्होंने कहा कि सिक्किम के लोग इस महान देश का हिस्सा होने में गर्व महसूस करते हैं। बता दें कि मई 16, 1975 को सिक्किम भारतीय गणराज्य का 22वाँ प्रदेश बना था। IAS अधिकारी गुप्ता ने इस पत्र के साथ ही दिल्ली की केजरीवाल सरकार द्वारा दिए गए विज्ञापन की प्रतिलिपि भी संलग्न की और दिल्ली के मुख्य सचिव को प्रेषित किया है।

मुख्य सचिव ने इस विवादित विज्ञापन को जल्द से जल्द वापस लेने का आग्रह किया है। साथ ही एक ऐसी विज्ञप्ति जारी करने की गुजारिश की है, जिससे सिक्किम की जनता की भावनाओं को ठेस न पहुँचे। आपको बता दें कि इस विज्ञापन के सार्वजनिक होने के बाद सोशल मीडिया पर भी लोगों ने दिल्ली सरकार की कड़ी आलोचना की थी।

 

भारत फिर भरेगा उड़ान, 25 मई को दिल्ली एयरपोर्ट से रवाना होगी पहली फ्लाइट

प्रमोद प्रेमी यादव का Sad सांग मचा रहा धमाल, यहां देखे वीडियों

SBI : इस नंबर पर मिस्ड कॉल करके आसानी से जान सकते है अकाउंट बैलेस

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -