मल्टीटास्किंग के दौर में इस तरह रखें खुद को दूसरों से आगे

आज का युग बहुत ही भाग-दौड़ भरा युग है। आजकल प्रतिस्पर्धा भी बहुत है। हर व्यक्ति स्वयं को सदैव दूसरे लोगो की तुलना में आगे देखना चाहता है। कई लोगो को केवल एक कार्य से ही फुर्सत नहीं मिलती है। वही कई लोग ऐसे भी है,जो मल्टीटास्किंग जॉब को भी अपनाते है। एक साथ कई कंपनी में काम करना मल्टीटास्किंग कहलाता है। अगर आप भी मल्टीटास्किंग में है, तो आज आप विस्तार से जानेगे कि किस प्रकार मल्टीटास्किंग के युग में आप खुद को दूसरे लोगो की अपेक्षा आगे रख सकते है। 

समय का सदुपयोग: समय बड़ा बलवान होता है, हमें इसका सदुपयोग करना चाहिए। कहा जाता है कि 'समय को पूज लीजिए समय आपको पूजनीय बना देगा'। यह भी सही है कि दुनिया में हर किसी को 24 घंटे ही मिलते हैं। उसी में अपनी हर आवश्यकता, कार्य और हर ख्वाहिश को पूरा करना जरूरी है। हालांकि दो पार्टटाइम जॉब एक साथ करने के लिए समय को व्यवस्थित करना आवश्यक हो जाता है, ऐसे में आप ठीक ढंग से समय का मूल्य जान पाएंगे। 

पैसा और अनुभव साथ-साथ: मल्टीटास्किंग कार्य में व्यक्ति पैसे तो कमाता है, साथ ही उसे तरह-तरह के और नए-नए अनुभव भी प्राप्त होते है। करियर काउंसलर का कहना है कि दो अलग-अलग पार्ट टाइम जॉब करने से व्यक्ति के आत्मज्ञान और आत्मकौशल में भी निखार आता है।

नए युग का नया ट्रेंड: विशेषज्ञ भी इस बात को मानते हैं कि पार्टटाइम नौकरी की अवधारणा काफी पुरानी है, लेकिन दो पार्टटाइम जॉब का ट्रेंड बिल्कुल नया आधार लेकर आया है। जहां कुछ लोग 8-10 घंटे की नौकरी में ही खुद को फिट मानते हैं। वही इससे परे कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिन्हें यदि मनमाफिक काम मिले तो वे 12-14 घंटे काम करने में भी नहीं हिचकते और थकावट भी महसूस नहीं करते है। ऐसे मेहनती लोगो को दो पार्ट टाइम जॉब का ट्रेंड अत्यधिक फायदा पहुंचा सकता है।

क्या आप भी ठीक से नहीं बोल पाते इंग्लिश तो ये है आपके लिए बेस्ट टिप्स

अपने अनुसार करें जॉब का चयन

शहडोल संभाग का गठन कब हुआ था ?

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -