प्रेग्नेंसी के दौरान इन चीजों से रखें दूरी, रहता है गर्भपात का खतरा

प्रेग्नेंसी के दौरान इन चीजों से रखें दूरी, रहता है गर्भपात का खतरा
Share:

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं अक्सर उन चीजों के सेवन पर अधिक ध्यान देती हैं जो स्वास्थ्यवर्धक मानी जाती हैं। हालाँकि, सिर्फ इसलिए कि कोई चीज़ स्वस्थ है इसका मतलब यह नहीं है कि गर्भावस्था के दौरान उसका सेवन करना हमेशा उचित है। पपीता, अनानास और अंगूर जैसी कई स्वस्थ चीजें गर्भवती महिलाओं के लिए जोखिम पैदा कर सकती हैं। इसलिए, गर्भवती माताओं के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे अपने बच्चे के बेहतर स्वास्थ्य के लिए अपनी जीवनशैली के हर पहलू का ध्यान रखें, खासकर जब आहार संबंधी आदतों की बात आती है।

गर्भावस्था के दौरान परहेज करने के लिए यहां कुछ खाद्य पदार्थ दिए गए हैं:

पपीता: पपीते में लेटेक्स और पपेन होता है, जो गर्भावस्था के शुरुआती चरणों में गर्भपात के खतरे को बढ़ा सकता है। बच्चे के जन्म के बाद तक पपीते के सेवन से बचने की सलाह दी जाती है।

अंगूर: अंगूर की तासीर गर्म होती है जो भ्रूण के लिए हानिकारक हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान अंगूर का सेवन करने से समय से पहले डिलीवरी का खतरा भी बढ़ सकता है।

तुलसी की पत्तियां (तुलसी): तुलसी की पत्तियां भ्रूण के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती हैं। इनमें एस्ट्रैगोल होता है जो गर्भपात का कारण बन सकता है। तुलसी की पत्तियां महिला के मासिक धर्म चक्र को भी प्रभावित कर सकती हैं।

चीनी भोजन: चीनी भोजन में अक्सर मोनोसोडियम ग्लूटामेट (एमएसजी) होता है जो जन्म के बाद बच्चे में शारीरिक असामान्यताएं पैदा कर सकता है। इसके अतिरिक्त, सोया सॉस में सोडियम की उच्च मात्रा गर्भवती महिलाओं में उच्च रक्तचाप का कारण बन सकती है।

अनानास: अनानास में ब्रोमेलैन होता है जो शीघ्र प्रसव को प्रोत्साहित कर सकता है। गर्भावस्था के दौरान अनानास के सेवन से बचना सबसे अच्छा है।

अन्य बातें:
गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान और शराब के सेवन से बचें क्योंकि ये बच्चे के स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव डाल सकते हैं।
कॉफी और चाय में कैफीन की मात्रा अधिक होने के कारण इनका सेवन सीमित करें, जो विकासशील भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है।
गर्भावस्था के दौरान कच्चे खाद्य पदार्थ जैसे अंकुरित अनाज या कच्चा समुद्री भोजन खाने से बचें। इसके बजाय अच्छी तरह पकाए गए पौष्टिक भोजन का विकल्प चुनें।
गर्भावस्था के दौरान गर्म या मसालेदार भोजन खाने से बचें क्योंकि ये विकासशील बच्चे के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

गर्भावस्था एक नाजुक चरण है, और माँ और बच्चे दोनों की भलाई के लिए संतुलित और स्वस्थ आहार बनाए रखना महत्वपूर्ण है। गर्भवती माताओं के लिए यह आवश्यक है कि वे क्या खाएं इसके बारे में सतर्क रहें और एक सुरक्षित और स्वस्थ गर्भावस्था यात्रा सुनिश्चित करने के लिए सूचित विकल्प चुनें।

हर महिला को नियमित रूप से इन योगाभ्यास का करना चाहिए अभ्यास

क्या है 3डी प्रिंटर, जानिए इसका इस्तेमाल कर आप क्या कर सकते हैं

क्या आप भी यूरिन इंफेक्शन के शिकार हो गए हैं? इन तरीकों से मिलेगी राहत

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -