इस गांव को है सोने की बीमारी, कभी भी और कहीं भी सो जाते हैं लोग

इस गांव को है सोने की बीमारी, कभी भी और कहीं भी सो जाते हैं लोग

आज के ज़माने में अधिकतर अपनी नींद को लेकर परेशान रहते हैं, क्योनी उनकी नींद ही पूरी नहीं होती. आधनिक जमाने की बिगड़ी हूई जीवनशैली की वजह से लोगों को ये परेशानी होती है. कुछ लोगों को नींद नहीं आती है. जबकि कुछ लोगों के पास सोने का समय ही नहीं होता है. इसी  बीच हम आज आपको एक ऐसी जगह के बार में बता रहे है. जहां के लोग सोने से बहुत प्यार करते है. ये कह सकते हैं जहां उन्हीने नींद आती हैं वहीं सो जाते हैं. खबरों के अनुसार यहां एक व्यक्ति नहीं बल्कि परा गांव ही अचानक से सो जाता है.औऱ यह किसी एक दो घंटों के लिए नहीं बल्कि कभी कभी तो एक हफ्ते के लिए सो जाते हैं.

आपको बता दें, यह कहानी कज़ाकिस्तान के कलछी गांव की है जहाँ के लोग एक अजीब बीमारी से पीड़ित है. लोग इस परेशानी की वजह से चलते चलत ही सो जाते है. जी हाँ, कुछ ऐसा होता है कि सब के सब अचानक ही नींद के आगोश में आ जाते हैं और कभी भी सो जाते हैं. वैज्ञानिक वहां पर पहुंचे और इस बीमारी की खोज की तो पता चलका कि यहां के लोगों को स्लिपिंग एपिडेपिकक नामक बीमारी है. जिसकी वजह से इन लोगों को काम करते करते ही नींद आ जाती है. 

इसी के साथ आपको बता दें, चौंकाने वाली बात तो यह है कि इस गांव के लोगों को पता ही नहीं होता है कि वह कब सोनें वाले है. इसके चलते पूरा परिवार कई बार परेशानियों का कारण बन जाता है. रोड पर चलते हुए सो जाते हैं यानि ये कह सकते हैं कि उनका कोई भरोसा नहीं है कि वो कब सो जाएं. हालांकि इनकी सुरक्षा को लेकर सरकार की ओर से पूरा इंतजाम किया गया है. वेज्ञानिकों का कहना है कि यहां कि जलवायु की वजह से ऐसा होता है. इस पर आज भी काम चल रहा है  तो इसे ठीक करने की कोशिश की जा रही है. 

सालों की तपस्या कर ऐसा हाल हो जाता है इन बुद्धों का, जानिए इसकी कहानी

रोजाना अपनी जिन्दा बेटी के लिए कब्र खोदता है ये पिता, वजह आपको रुला देगी

इस खूबसूरत मॉडल की है दो रंग की आंखें, देखकर आपको भी हो जाएगा प्यार