कश्मीर में जिन 'बच्चों' ने बन्दूक उठाकर हत्याएं की, उनकी बात सुने सरकार - कांग्रेस नेता

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में इंडियन आर्मी 5 जवानों के शहीद होने के बाद से पूरे देश में आक्रोश और गम है, वहीं कांग्रेस के एक दिग्गज नेता ने इस मामले पर बेहद घृणित बयान दिया है। कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज ने जम्मू कश्मीर के आतंकियों की हिमायत की है। मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि जिसके हाथ में बंदूक है, उनसे हमें पूछना चाहिए कि आप क्या सोचते हैं? उन्होंने कहा कि घाटी में कुछ इसी प्रकार का वातावरण बनना चाहिए। बता दें कि अब जब जम्मू कश्मीर में गैर-मुस्लिमों की हत्याओं का 1990 जैसा सिलसिला फिर से शुरू हो चुका है और केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं, ऐसे समय में कांग्रेस नेता ने इस तरह का बयान दिया है।

उन्होंने आगे कहा कि वे 'बच्चे' (बंदूक थामने वाले आतंकियों) भी कुछ कहना चाहते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि वो हिंसा का समर्थन नहीं करते हैं, किन्तु समस्या के निराकरण के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को इस बारे में जम्मू कश्मीर की आवाम और यहाँ के राजनीतिक दलों से बात करनी होगी। उन्होंने बातचीत को हर समस्या का समाधान करार देते हुए कहा कि कश्मीर का मुस्लिम समुदाय हिल गया है, क्योंकि उसे पता चला है कि ये हत्याएँ उनमें से किसी के द्वारा ही की गई थी।

उन्होंने दावा करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर का बहुसंख्यक समुदाय भीतर तक हिला हुआ है, क्योंकि उनमें से ही कुछ ने हथियार उठा कर लोगों की हत्याएं कर दी, लेकिन उन्हें भी सुना जाना चाहिए। कांग्रेस नेता ने दावा किया कि केंद्र शासित प्रदेश की आवाम में से कोई भी हिंसा का समर्थन नहीं करता। सैफुद्दीन सोज ने कश्मीर में आर्मी और अर्धसैनिक बलों की उपस्थिति की बात करते हुए कहा कि समाधान बातचीत से ही निकलेगा। बता दें कि सैफुद्दीन सोज 7 बार सांसद रह चुके हैं और यूपीए-1 के दौरान उन्हें जल संसाधन मंत्री बनाया गया था। 

बाजार बंद: सेंसेक्स और निफ़्टी में आया भारी उछाल

दक्षिण केरल और कर्नाटक में 100 रुपये प्रति लीटर के पार पंहुचा डीजल

पीएम मोदी ने कहा- "हम अंतरिक्ष युग की ओर बढ़ रहे हैं, भारत को पीछे नहीं...."

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -