अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ कर गए करूणानिधि, लेकिन किसे मिलेगी उनकी राजनितिक विरासत ?

अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ कर गए करूणानिधि, लेकिन किसे मिलेगी उनकी राजनितिक विरासत ?

चेन्नई। आज पूरा तमिलनाडु शोक में डूबा हुआ है। इसकी वजह है तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके के वरिष्ठ नेता एम. करूणानिधि का निधन है। उन्होंने 94 साल की उम्र में कल शाम चेन्नई के कावेरी हॉस्पिटल में अपने प्राण त्यागे है। करूणानिधि अपने पीछे-पीछे एक बड़ा परिवार छोड़ गए है। आइये हम आपको बताते है कि कितना बड़ा है उनका परिवार। 

करूणानिधि के निधन पर कोर्ट में चल रही हैं ये 5 दलीलें

करूणानिधि ने तीन शादिया की थी और उनके उनके सात बच्चे थे। उनकी पहली पत्नी पद्मावती का निधन हो चुका है जबकि दूसरी पत्नी दयालु अम्माल और तीसरी पत्नी रजति अम्माल जीवित हैं। करूणानिधि के सात बच्चों में 4 लड़के और 2 लड़किया है। करूणानिधि की राजनितिक विरासत को हासिल करने को के लिए उनके दो बेटे एमके अलागिरी और एमके स्टालिन में अक्सर संघर्ष चलता रहता था।  हालांकि करूणानिधि के कई मौकों पर यह संकेत दिया था कि उनके बाद उनकी विरासत एमके स्टालिन ही संभालेंगे। 

करूणानिधि के पैतृक गांव ने खो दी अपनी पहचान
करूणानिधि पर कई बार परिवारवाद को बढ़ावा देने के भी आरोप लगे थे खासकर तब जब उन्होंने अपने बड़े बेटे मुत्थु को तमिल फिल्मों में हीरो के तौर पर उतारा था। उनके इस कदम से ही डीएमके के नेता एमजी रामचंद्रन के साथ उनके रिश्तों में दरारें पड़ना शुरू हुई थी। इसके कुछ समय बाद ही एमजी रामचंद्र ने एआईडीएमके नामक नई पार्टी का गठन किया।

ख़बरें और भी ​

PM मोदी-रक्षा मंत्री पहुंचे चेन्नई, करूणानिधि को दी श्रृद्धांजलि

करूणानिधि के लिए भारत रत्न की मांग...मद्रास HC का फैसला- मरीना बीच पर ही होगा करूणानिधि का अंतिम संस्कार

 

?