12 नवंबर को है कार्तिक पूर्णिमा, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Nov 10 2019 07:20 PM
12 नवंबर को है कार्तिक पूर्णिमा, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

कार्तिक पूर्णिमा इस साल 12 नवंबर को मनाई जाने वाली है और यह पूर्णिमा सभी पूर्णिमाओं में श्रेष्‍ठ मानी जाती है. ऐसी मान्‍यता है कि इस दिन भगवान शिव ने देवलोक पर हाहाकार मचाने वाले त्रिपुरासुर नाम के राक्षस का संहार किया था और उसके वध की खुशी में देवताओं ने इसी दिन दीपावली मनाई थी. आपको बता दें कि हर साल लोग कार्तिक पूर्णिमा के दिन देव दीपावली मनाते हैं और इसी दिन भगवान विष्‍णु ने मत्‍स्‍यावतार लिया था. ऐसे में इस दिन गंगा समेत अन्‍य पवित्र नदियों में स्‍नान करन पुण्‍यकारी माना जाता है और कार्तिक पूर्णिमा के दिन दीपदान करते हैं. आइए जानते हैं इस दिन के शुभ मुहूर्त और पूजा विधि.

कार्तिक पूर्णिमा कब है? - कार्तिक पूर्णिमा हर साल नवंबर के महीने में आती है और इस बार कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर 2019 को है.

कार्तिक पूर्णिमा की तिथि और शुभ मुहूर्त-
कार्तिक पूर्णिमा की तिथि: 12 नवंबर 2019
पूर्णिमा तिथि आरंभ: 11 नवंबर 2019 को शाम 06 बजकर 02 मिनट से 
पूर्णिमा तिथि समाप्‍त: 12 नवंबर 2019 को शाम 07 बजकर 04 मिनट तक 

कार्तिक पूर्णिमा की पूजा विधि - इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर पवित्र नदी में स्‍नान करें. इसके बाद रात्रि के समय विधि-विधान से भगवान विष्‍णु और मां लक्ष्‍मी की पूजा करें और सत्‍यनारायण की कथा पढ़ें, सुनें और सुनाएं. इसके बाद भगवान विष्‍णु और मां लक्ष्‍मी की आरती उतारने के बाद चंद्रमा को अर्घ्‍य दें. अब घर के अंदर और बाहर दीपक जलाएं और घर के सभी सदस्‍यों में प्रसाद वितरण करें. इसके बाद दान करें क्योंकि यह अत्‍यंत शुभ माना जाता है. ध्यान रहे किसी ब्राह्मण या निर्धन व्‍यक्ति को भोजन कराएं और यथाशक्ति दान और भेंट देकर विदा करें. इसके बाद कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर दीपदान भी करें क्योंकि यह बहुत शुभ माना जाता है.

गुरूवार के दिन जरूर करें भगवान विष्णु की यह आरती

शिवपुराण के अनुसार मरने से पहले मिलते हैं यह संकेत, समझ गए तो बच जाएंगे आप

नारद पुराण में है इन कामों की सख्त मनाही, जरूर पढ़े