ध्वजारोहण के समय जज ने हटवाई अंबेडकर की तस्वीर, सड़कों पर उतरे लोग

बैंगलोर: कर्नाटक के रायचूर में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने जिला न्यायाधीश के खिलाफ सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शन करने वाले लोगों का आरोप है कि रायचूर की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट परिसर में गणतंत्र दिवस के दौरान राष्ट्रीय ध्वज फहराने से पहले डिस्ट्रिक्ट और सेशन जज ने यहां रखी भीम राव अंबेडकर की तस्वीर हटवा दी. इसे लेकर विवाद हो गया. 

इसके बाद 27 जनवरी को रायचूर में वकीलों, छात्रों, कांग्रेस और जनता दल (एस) के नेताओं ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने लगभग 5 घंटे तक सड़क जाम करके रखी. इस दौरान विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों ने अतिरिक्त उपायुक्त के वाहन को भी घेर लिया. इसके बाद पुलिस ने काफी जद्दोजहद कर प्रदर्शनकारियों को समझाकर वाहन निकलवाया.  वकीलों का आरोप है कि रायचूर की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट परिसर में गणतंत्र दिवस पर झंडा फहराया जाना था. इस दौरान डिस्ट्रिक्ट जज ने जब महात्मा गांधी के साथ अंबेडकर की तस्वीर रखी  हुई देखी, तो उन्होंने इसे हटाने को कहा. जब फोटो हटा दी गई, तब उन्होंने ध्वजारोहण किया. 

ध्वजारोहण के दौरान महात्मा गांधी के साथ से अंबेडकर की तस्वीर हटाने को लेकर वकीलों का एक ग्रुप खफा हो गया. इसके अलावा कुछ छात्रों, सियासी दलों ने भी 27 जनवरी को सेशन जज के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर चक्का जाम किया. 

आपस में भिड़े भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ता, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

पंजाब चुनाव: सिद्धू को घर में ही पटखनी देने का प्लान, अकाली दल ने मजीठिया को बनाया हथियार

टीपू सुल्तान के नाम पर छिड़ा विवाद! BJP के विरोध पर बोले संजय राउत- ये सब इतिहासचार्य इतिहास बदलेंगे?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -